केन्या: बुसिया के गन्ना किसान और मिलर्स का गन्ना आयात प्रतिबंध हटाने को विरोध…

152

नैरोबी : केन्या शुगर मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (Kesma / केस्मा ) द्वारा की गई गन्ना आयात प्रतिबंध हटाने की मांग पर गन्ना किसानों और मिलरों ने कड़ा एतराज़ जताया है। एसोसिएशन के अध्यक्ष जयंती पटेल के माध्यम से, ‘केस्मा’ ने कृषि सीएस पीटर मुन्या को लिखा था कि, बुसिया गन्ना उद्योग गन्ने की कम आपूर्ति का सामना कर रहा है। अगस्त 4 को लिखे इस पत्र में पटेल ने कहा है कि, कम गन्ना आपूर्ति के चलते मिलर ने अनुरोध किया है कि मिल के लिए गन्ने पर प्रतिबंध हटा दिया जाए, ताकि मिल पूरी क्षमता से चल सकें। ‘केस्मा’ ने दावा किया कि, बुसिया क्षेत्र में गन्ने की कम खेती के परिणामस्वरूप कम गन्ना आपूर्ति की स्थिति है।

पटेल ने कहा, बुसिया की मिलें पहले से ही देश में गन्ने की खेती को बढ़ाने पर काम कर रही है। हालांकि, इस बीच उन्हें समाधान की जरूरत है। हालांकि, किसानों ने शुक्रवार को आरोप किया कि स्थानीय गन्ना उत्पादन और किसानों को संकट में डालने का ‘केस्मा’ का यह एक अच्छा कदम था। उन्होंने दावा किया कि, यह कदम उन चीनी तस्करों को फायदा पहुंचाने के लिए है, जो पड़ोसी युगांडा के सस्ते गन्ने और गन्ने की तस्करी करना चाहते हैं। हालाँकि, ओलेपीटो शुगर कंपनी के महाप्रबंधक गेराल्ड ओकोथ ने पटेल की आलोचना करते हुए कहा कि, एसोसिएशन के सदस्यों से सलाह नहीं ली गई और प्रतिबंध हटाने का समर्थन नहीं किया।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here