चीनी उत्पादन में 12 से 14 प्रतिशत वृद्धि संभव: ब्रिकवर्क

131

नई दिल्ली: ब्रिकवर्क रेटिंग ने कहा कि, पेराई सीजन 2020 – 2021 में देश के चीनी उत्पादन 12 से 14 प्रतिशत वृद्धि के साथ 31.5 मिलियन टन होने की संभावना है। 2020-21 के लिए देश भर में गन्ना क्षेत्र 5.23 मिलियन हेक्टेयर पर आंका गया है, जो पिछले वर्ष के 4.87 मिलियन हेक्टेयर से लगभग 7 प्रतिशत अधिक है। महाराष्ट्र और कर्नाटक द्वारा चीनी उत्पादन में बढ़ोतरी होने की संभावना है, जबकि गुजरात में गन्ने की खेती के क्षेत्र में भी मध्यम वृद्धि हुई है। देश के सबसे बड़े चीनी उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में उत्पादन में मामूली गिरावट की संभावना है। इसका मुख्य कारण गन्ने की खेती के क्षेत्र में मामूली गिरावट और राज्य में लाल सड़न रोग है।

ब्रिकवर्क ने कहा कि, गुड और खांडसारी व्यवसायों की सामान्य सेवा फिर से शुरू होने के कारण पिछले सीजन के स्तरों की तुलना में चीनी उत्पादन में गिरावट आने की संभावना है। हालांकि, उत्तर प्रदेश में आने वाले मौसम में स्थिति में सुधार होने की संभावना है क्योंकि किसान तेजी से उपज देने वाले और अत्यधिक प्रतिरोधी किस्मों के गन्ने फसल कर रहे हैं। तमिलनाडु में 2020-21 के लिए गन्ना और चीनी उत्पादन में मामूली गिरावट की संभावना है। अन्य राज्यों में उत्पादन पिछले सीजन के स्तर के अनुरूप रहने की संभावना है क्योंकि कोई बड़ा बदलाव नहीं देखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here