गन्ना काटने वाली 13 हजार महिलाओं के गर्भाशय निकाले गए; जल्द ही मुख्यमंत्री को सौंपी जाएगी रिपोर्ट

456

मुंबई / बीड: हालही में महाराष्ट्र में बवाल मच गया था जब यह पता चला था की राज्य के बीड जिले गन्ना काटने वाली महिलाओं के गर्भाशय निकाले गए है। अब इस मामले में जो आंकड़े सामने आये है, वे चौका देने वाले है। खबरों के मुताबिक, बीड़ जिले में गन्ना कटाई करने वाली कुल 13 हजार महिलाओं के गर्भाशय निकाले गए हैं। यह सनसनीखेज जानकारी इस संदर्भ में किए गए सर्वे में सामने आई है।

कुछ निजी अस्पतालों द्वारा बीमारियों का डर दिखाकर बिना वजह सर्जरी करने के भी कुछ मामले प्रकाश में आए थे। स्वास्थ्य मंत्री एकनाथ शिंदे ने विधान परिषद सदन में यह जानकारी दी थी। शिंदे ने बताया था कि, इसकी जांच के लिए समिति गठित की जाएगी और गठित समिति गर्भाशय निकालने के मामलों की जांच करेगी। राज्य सरकार ने विधान परिषद की उपसभापति डॉ. नीलम गोरे की अध्यक्षता में जांच समिति गठित की थी।

अब इस मामले की विस्तृत रिपोर्ट बीड़ के स्वास्थ्य विभाग ने जांच समिति को भेजी है। सर्वे में सभी 82 हजार 900 गन्ना कटाई करने वाली महिलाओं की जानकारी संकलित की गई है। समिति ने जिले की गन्ना कटाई करने वाली महिलाओं की जानकारी लेने के आदेश जिला स्वास्थ्य विभाग को दिए थे। उसके बाद लगभग एक माह तक आशा सेविकाओं ने घर-घर जाकर महिलाओं की जानकारी संकलित की और रिपोर्ट में कब और कहां गर्भाशय निकाले गए, इसका पूरा विवरण है। रिपोर्ट जांच समिति को भेजी गई है और अध्ययन करने के बाद मुख्यमंत्री को सौंपा जाएगा। ज्यादातर सर्जरी निजी अस्पतालों में हुईं, इनमें बीड़ शहर के 7, केज 1 और अन्य स्थानों के दो अस्पताल शामिल हैं। 10 निजी अस्पतालों में ही लगभग 6 हजार सर्जरी की गईं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here