18 चीनी मिलों पर लोकसभा चुनाव समाप्ति के बाद हो सकती है कार्यवाही

909

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

कोल्हापुर: चीनीमंडी

बार-बार अधिसूचना के बावजूद और कई बार समयसीमा बढ़ाकर भी जिले की 18 चीनी मिलों ने एफआरपी बकाया भुगतान नही किया है। चीनी आयुक्त ने लोकसभा चुनाव समाप्त होने के तुरंत बाद कार्यवाही शुरू करने के संकेत दिए है। एफआरपी बकाया मामले में आरआरसी के तहत चीनी जब्ती की कार्रवाई प्रस्तावित की है और नोटिस तैयार किए हैं। जिले की 22 मिलों में से 18 मिलें चीनी आयुक्त के ‘रडार’ पर आ गई हैं। कार्रवाई के संकेत मिलते ही चीनी उद्योग में हडकंप मच गया है।

कीमतों में गिरावट और निर्यात में रूकावट के चलते चीनी मिलों ने 80:20 सूत्र के अनुसार एफआरपी का भुगतान करने का फैसला सीझन के शुरुवात में किया था। इसके चलते, हर मिल के पास अभी भी प्रति टन 500 रुपये बकाया हैं। चीनी आयुक्त शेखर गायकवाड़ ने कार्यभार संभालने के तुरंत बाद से मिलों को एफआरपी भुगतान के बारे में लिखित निर्देश जारी किए थे, लेकिन जिले में चार मिलों को छोड़कर किसी ने भी इसे गंभीरता से नहीं लिया।

चीनी आयुक्त ने मिलों को 30 मार्च तक एफआरपी भुगतान के निर्देश दिए थे, लेकिन कई सारी मिलों ने इसका पालन नहीं किया है। इस बीच, लोकसभा चुनाव आचार संहिता और चुनाव कार्य के चलते मिलों पर कार्रवाई के बारे में निर्णय स्थगित कर दिया गया था। बुधवार (24) से आचार संहिता के शिथिल होने के बाद, कमिश्नर द्वारा एफआरपी बकाया की रिपोर्ट की मांग करते हुए कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here