चारो ओर तबाही ही तबाही: उत्तराखंड में बादल फटने से 21 लोगों की गई जान

Listen to this article

नई दिल्ली: बारिश का कहर रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। पूरे भारत में भारी बारिश से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त है। बाढ़ के कारण, देश के कई राज्यों में स्थिति गंभीर बनी हुई है।

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में बादल फटने से दो दिन में 21 लोगों की जान चली गई। बादल फटने के बाद सेना के हेलिकॉप्टर राहत और बचाव अभियान में जुटे हैं। वही हिमाचल में रविवार को भारी बारिश और भूस्खलन से 24 लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी।

उत्तरकाशी जिले के अरकोट, मकुरी और तिकोची गाँवों में बादल फटने से कई घरों को नुकसान हुआ है और साथ ही साथ कम से कम 10 लोग लापता बताये जा रहे है।

उत्तराखंड में अधिकारियों ने बाढ़ और बादल फटने के बाद फंसे लोगों को स्थानांतरित करने के लिए कई स्थानों पर बचाव अभियान शुरू किया क्योंकि मौसम विभाग ने इस क्षेत्र में अधिक बारिश होने का अनुमान लगाया है।

दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में बाढ़ की चेतावनी दी गई है, क्यूंकि यमुना सहित अन्य नदियाँ खतरनाक स्तर तक पहुंच चुकी है। दिल्ली सरकार ने निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा है क्योंकि यमुना में पानी का स्तर खतरे के निशान (205.33 मीटर) को पार करने की उम्मीद है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here