चीनी मिल अधिकारियों और पुलिसकर्मी के साथ मारपीट के मामले में 48 ट्रक ड्राइवर और क्लीनरों पर कार्रवाई

332

भरूच : चीनी मंडी

पुलिस कर्मियों और बारडोली चीनी मिल के अधिकारियों के साथ मारपीट करने के आरोप में शुक्रवार को 48 ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर को गिरफ्तार किया गया। यह घटना मिल के पास एक गन्ने के यार्ड में हुई। पुलिस के अनुसार, शुक्रवार शाम को, भरूच जिले के वालिया और तापी जिले में उचल तालुका में गन्ने के खेतों से लदे 40 से अधिक ट्रक और ट्रैक्टर स्टॉक अनलोड करने के लिए मिल लौट रहे थे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रास्ते में, ट्रकों और ट्रैक्टरों के चालकों को कथित तौर पर लॉकडाउन के दौरान परिवहन न करने के लिए पुलिस द्वारा चेतावनी दी गई थी। ट्रक ड्राइवर ने परिवहन समिति के लोगों से कहा कि अब से, वे तापी और भरूच जिलों के गन्ना परिवहन करने के लिए नहीं जाएंगे क्योंकि उन्हें पुलिस विभाग से बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। मिल के उपाध्यक्ष भावेश पटेल के साथ ट्रांसपोर्ट कमेटी के सदस्य रवजी पटेल और नीरज पटेल के बीच ड्राइवरों के साथ बातचीत हुई। चीनी मिल के अधिकारियों ने बारडोली के पुलिस निरीक्षक महेश गिलटर को बुलाया और पुलिस अधिकारियों की एक टीम गन्ना यार्ड पहुंची। पुलिस ने कहा कि, उन्होंने चीनी मिल के अधिकारियों और ट्रक चालकों के बीच समझौता वार्ता की। पुलिस के अनुसार, शांतिपूर्ण बैठक हिंसक हो गई और गुस्साए ट्रक चालकों ने उन पर हमला किया। इंस्पेक्टर महेश गिलटर ने बारडोली पुलिस स्टेशन में ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर के खिलाफ इस संबंध में दंगा करने की शिकायत दर्ज की।

बारडोली के पुलिस निरीक्षक महेश गिलटर ने कहा, “हम ट्रक चालकों को शांति से समझाने के लिए मौके पर गए लेकिन उन्होंने मुझ पर गन्ने से हमला किया। बारडोली चीनी मिल के उपाध्यक्ष भावेश पटेल और दो समिति सदस्य भी इस घटना में घायल हो गए। हमने इस घटना के सिलसिले में 48 ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर को गिरफ्तार किया है। उन पर मारपीट के आरोप के तहत मामला दर्ज किया गया है। ”

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here