पेराई सत्र 2021-22: उत्तर प्रदेश में 92 चीनी मिलें शुरू; गन्ना किसानों की भी हुई अच्छी शुरुआत

243

प्रदेश के आयुक्त, गन्ना एवं चीनी, श्री संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि वर्तमान पेराई सत्र के देय गन्ना मूल्य का त्वरित भुगतान किये जाने हेतु चीनी मिलों को कड़े निर्देष दिये गये हैं तथा नियमित समीक्षा भी की जा रही है। त्वरित गन्ना मूल्य भुगतान के दृष्टिगत वर्तमान पेराई सत्र 2021-22 के देय गन्ना मूल्य रू.510.20 करोड़ के सापेक्ष रू.553.26 करोड़ का भुगतान गन्ना किसानों को कर दिया गया है। जो देय गन्ना मूल्य से रू.43.06 करोड़ अधिक है। नये पेराई सत्र का आरम्भिक चरण तथा त्योहारी सीजन में त्वरित गन्ना मूल्य भुगतान प्रदेष के गन्ना किसानों के लिए खुषी का पैगाम लेकर आया है।

चीनी मिलों के संचालन की स्थिति के विषय में जानकारी देते हुए श्री भूसरेड्डी ने बताया कि वर्तमान पेराई सत्र 2021-22 अन्तर्गत अब तक प्रदेश की 92 चीनी मिलें पेराई कार्य शुरू कर चुकी हैं, जिनमें निगम क्षेत्र की 01, सहकारी क्षेत्र की 17 तथा निजी क्षेत्र की 74 चीनी मिलें शामिल हैं। संचालित चीनी मिलों में निगम क्षेत्र की मोहद्दीनपुर तथा सहकारी क्षेत्र की ननौता, सरसांवा, मोरना, बागपत, रमाला, अनूपषहर, स्नेहरोड़, गजरौला, सेमीखेड़ा, बीसलपुर, पूरनपुर, तिलहर, पुवांया, बदायूॅं, कायमगंज, बेलरायां एवं नानपारा चीनी मिलें शामिल हंै। निजी क्षेत्र की चीनी मिलों में मोदी समूह की 02, डी.सी.एम. श्रीराम समूह की 04, मवाना समूह की 02, राणा समूह की 04, उत्तम समूह की 03, डालमिया समूह की 03, त्रिवेणी समूह की 07, धामपुर समूह की 05, वेव समूह की 04, द्वारिकेष समूह की 03, यदु समूह की 02 मिलों सहित इन सभी समूहों की प्रदेष में स्थित सभी चीनी मिलों तथा एकल समूहों की 13 चीनी मिलों द्वारा पेराई कार्य प्रारम्भ किया जा चुका है। उपरोक्त के अतिरिक्त सिम्भावली समूह की 03 में से 02, बजाज समूह की 14 में से 09, बलरामपुर समूह की 10 में से 05, आई.पी.एल. समूह की 06 में से 03 एवं बिरला समूह की 04 में से 03 चीनी मिलों द्वारा पेराई कार्य शुरू किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त प्रदेष की अन्य 17 चीनी मिलों द्वारा अपना पेराई कार्य शुरू करने की समस्त औपचारिक तैयारी कर गन्ना खरीद हेतु इण्डेंट जारी किया जा चुका है। इन चीनी मिलों का संचालन भी अगले 02 से 03 दिवस में शुरू हो जाएगा। अवषेष 11 चीनी मिलें भी शीघ्र ही संचालित हो जाएगी।

गन्ना आयुक्त ने यह भी बताया कि वर्तमान पेराई सत्र 2021-22 हेतु भुगतान करने वाली चीनी मिलों में हरदोई जिले की हरियांवा, लोनी एवं रूपापुर, लखीमपुर की अजबापुर, गुलरिया एवं कुम्भी, बिजनौर की स्यौहारा, धामपुर, बहादुरपुर, बुन्दकी और बरकातपुर, सीतापुर की रामगढ़, हरगांव, जवाहरपुर, मेरठ जिले की मवाना, नंगलामल एवं दौराला, सम्भल की असमौली, पीलीभीत की पीलीभीत, शाहजहांपुर की निगोंही एवं रोजा, मुजफ्फरनगर की मन्सूरपुर एवं टिकौला, बरेली की मीरगंज, फरीदपुर, बदायूॅ की बिसौली एवं मुरादाबाद की बिलारी चीनी मिलें शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here