नाशिक, नगर जिले में अभी भी 99 करोड़ रुपए गन्ना बकाया…

860

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

पुणे : चीनीमंडी

गन्ना किसानों का एफआरपी भुगतान करने के लिए अहमदनगर और नासिक जिले की चीनी मिलों को विभिन्न बैंकों द्वारा 450 करोड़ रुपयों का सॉफ्ट लोन मिला, लेकिन उसके के बाद भी तकरीबन 99 करोड़ का बकाया भुगतान नही हुआ है।

नगर जिले के 9 और नासिक जिले की 2 मिलों के पास कुल मिलकर लगभग 98 करोड़ 75 लाख रुपये भुगतान बकाया है। गन्ना पेराई को ढाई महीने पूरे हो चुके हैं, उसके बाद भी गन्ना किसानों को पैसा नहीं मिला है। बकाया भुगतान में नाकाम मिलों में प्रवरा – 19.90 करोड़, गणेश – 13.11 करोड़, कुकडी – 22 करोड़ 5 लाख, वृद्धेश्वर – 1 करोड़ 11 लाख, जय श्रीराम – २ करोड़ ३७ लाख, वसंतदादा – 9 करोड़ 75 लाख, केजीएस – 5 करोड़ 26 लाख.

पिछले सीज़न में, नगर जिले में चीनी का रिकॉर्ड उत्पादन हुआ था, लेकिन मिलों के पास किसानों को भुगतान करने के लिए पैसा उपलब्ध नहीं होने के कारण समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। केंद्र सरकार द्वारा किसानों का बकाया भुगतान करने के लिए मिलों को सॉफ्ट लोन का प्रबंध किया गया था। केंद्र सरकार एक साल के लिए बैंकों द्वारा दिए गए सॉफ्ट लोन पर ब्याज का भुगतान करेगी। नगर जिले की 15 और नासिक की 2 मिलों को 428 करोड़ रूपए का ऋण स्वीकृत किया गया। उसके बाद भी चीनी मिलों के पास 147 करोड़ रुपये बकाया था। उसके बाद मिलों ने चीनी बेचकर कुछ रकम का भुगतान किया, लेकिन अभी भी ग्यारह मिलों के पास लगभग 98 करोड़ 75 लाख रुपये भुगतान बकाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here