उत्तर प्रदेश में इस परियोजना की स्थापना से लगभग 30,000 किसानों को होगा लाभ

466

राज्य सरकार ने उ.प्र. राज्य चीनी निगम लि. की सहायक कम्पनी उ.प्र. राज्य चीनी एवं गन्ना विकास निगम लि. की पिपराईच चीनी मिल की अविवादित भूमि पर 3500 टी.सी.डी. (5000 टी.सी.डी. तक क्षमता विस्तारीकरण योग्य) क्षमता की नई चीनी मिल मय 18 मेगावाट के कोजेन प्लान्ट एवं 60 के.एल.पी.डी. की आसवनी लगाये जाने हेतु पी.आई.बी. द्वारा आंकलित लागत रू.40089.67 लाख की संस्तुति कर दी है। चीनी मिल व कोजन प्लान्ट की स्थापना का कार्य करते हुये पेराई सत्र 2018-19 में चीनी मिल का ट्रायल संचालन माह अप्रैल, 2019 में किया जा चुका है।

इस परियोजना की स्थापना की अवधि में चीनी मिल में सल्फरलेस शुगर बनाने की भी व्यवस्था की गयी है। जनपद गोरखपुर के पिपराईच में स्थित चीनी मिल में 5000 टी.सी.डी. (7500 टी.सी.डी. क्षमता तक विस्तारीकरण योग्य) क्षमता की नई चीनी मिल व 27 मेगावाट का कोजन प्लान्ट, रिफाइनरी-सल्फरलेस शुगर प्लान्ट एवं 120 केएल.पी.डी. आसवनी प्लाण्ट (गन्ने के जूस व शीरे पर आधारित) की स्थापना हेतु पुनरीक्षित लागत रू.65,796.96 लाख आंकलित की गई है। इस परियोजना की स्थापना पर होने वाला व्ययभार शतप्रतिशत ऋण के रूप में राज्य सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा। परियोजना की स्थापना से वित्तीय लाभ होगा एवं सल्फरलेस चीनी के उत्पादन से वैश्विक बाजार में चीनी का निर्यात सम्भव हो सकेगा। चीनी मिल क्षेत्र के किसानों की समृद्धि, क्षेत्र का सर्वांगीण विकास, प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार का सृजन होना एवं प्रदेश के आर्थिक विकास को गति देना। इस परियोजना की स्थापना से लगभग 30,000 किसानों को लाभ होगा तथा लगभग 8500 प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here