भोगपुर चीनी मिल परियोजना में देरी करने का आरोप लगाया गया

53

जालंधर : शिरोमणि अकाली दल (SAD) के विधायक पवन टीनू ने भोगपुर चीनी मिल परियोजना में देरी के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि, SAD सरकार अपने शासन के दौरान 102 करोड़ रुपये की चीनी मिल परियोजना को पहले ही पारित कर चुकी है और बैंक से संबंधित मंजूरी प्राप्त कर चुकी है, कांग्रेस सरकार ने केवल परियोजना में देरी की है।

Tribuneindia.com में प्रकाशित खबर के मुताबिक, पवन टीनू ने कहा, चीनी मिल परियोजना को 2017 में पूरा किया जाना था, हालांकि सरकार ने इसमें देरी की और जब चुनाव आ रहे है तो परियोजना के उद्घाटन का श्रेय कांग्रेस सरकार ले रही है। इसके अलावा, हम उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के SAD विधायक के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की घोषणा करने वाले बयानों की भी निंदा करते हैं। कांग्रेस नेता अब विपक्षी नेताओं को बदनाम करने के लिए राजनीतिक प्रतिशोध का सहारा ले रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि, राज्य में गन्ना उत्पादक कर्ज में डूबे हुए हैं और गन्ने की कीमतों से परेशान हैं। किसानों के विरोध के बाद ही गन्ने मूल्य को संशोधित किया गया, जो अभी भी हरियाणा से कम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here