आदिनाथ चीनी मिल के श्रमिकों का बकाया वेतन के लेकर धरना प्रदशर्न

270

सोलापुर : चीनी मंडी

सोलापुर जिले के करमाला तालुका में आदिनाथ सहकारी चीनी मिल के श्रमिकों का पिछले तकरीबन 41 महीनों का वेतन बकाया हैं और श्रमिकों द्वारा आंदोलन शुरू है। प्रबंधन द्वारा आंदोलन को बेदखल कर दिया गया, जिससे श्रमिकों में काफी गुस्सा है। गुस्साए श्रमिक रविवार को रास्ते पर ही धरने पर बैठ गये। जिससे यातायात पूरी तरह से ठप्प हो गई थी, जिसके कारण वाहनों की लंबी कतार लगी थी।

मिल के मजदूर महादेव मस्के पिछले कई दिनों से तनख्वाह की मांग को लेकर तहसील कार्यालय के सामने धरने पर बैठे है। उन्होंने कहा की, पिछले 41 महीनों का वेतन बकाया हैं और मिल प्रबंधन वेतन भुगतान करने के लिए कोई कोशिश करते नजर नही आ रहा है। बकाया वेतन के कारण घर चलाना मुश्किल हो गया है, बच्चों की स्कुल फ़ीस चुकाना भी आसान नही रहा है। जबतक भुगतान नही होता, तबतक आंदोलन शुरू रहेगा। रविवार को लगभग दो सौ श्रमिक अपने परिवारों के साथ रस्ते में ही धरने पे बैठ गये।

कुछ दिन पहले आदिनाथ सहकारी चीनी मिल के सभी श्रमिकों ने सोलापुर के जिला कलेक्टरों को भेजे गए एक बयान के माध्यम से इच्छा मृत्यु की मांग की थी। आंदोलन का नेतृत्व ट्रेड यूनियन के नेता दशरथ काम्बले, नानासाहेब साखरे ने किया। विधायक नारायण पाटिल, शेखर गाड़े, सविताराजे भोसले, दत्ता सरडे मौजूद थे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here