चीनी उत्पादन बढ़ाने के लिए ‘क्लाइमेट स्मार्ट फार्मिंग’अपनाने की सलाह

367

नई दिल्ली,14 दिसम्बर, बिम्सटेक देशों में सहयोग और साझेदारी को बढ़ावा देने के साथ कृषि शिक्षा, शोध औऱ अनुसंधान में सहयोग के लिए सदस्य देशों ने सहमति बनी है। राजधानी दिल्ली में चल रहे बिम्सटेक कृषि शिखर सम्मेलन में मीडिया से बात करते हुए बिम्सटेक सचिवालय म्यांमार के निदेशक हान थीन केयात ने कहा कि वैश्विक जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों के बीच मौसमी परिवर्तन ओर की समस्या चिन्ता का विषय बनती जा रही है। इसके लिए जरुरी है कि सदस्य देश ऐसी तकनीक पर काम करे जिससे कम पानी में अधिक उत्पादन लिया जा सके। हान थीन ने कहा कि भारत में गन्ने की खेती जितनी बहुतायात में होती है उतनी ही जटिल जल संकट की समस्या भी है।

हान थीन ने क्लाइमेट स्मार्ट फार्मिंग करने की सलाह देते हुए कहा कि इस तकनीक से गन्ने की खेती में भी कम पानी में अधिक उत्पादन लिया जा सकता है। क्लाइमेट स्मार्ट फार्मिंग तकनीक में परंपरागत खेती पद्दतियों के साथ आधुनिक तकनीक का समावेश कर किसानों की आमदनी बढाने पर जोर दिया जाना चाहिए। हान ने कहा कि हमें ऐसी तकनीकों पर काम करने की जरुरत है जिसमें पानी की एक एक बूंद को सहेजने के साथ फसल के उत्पादों में पूर्ण गुणवत्ता बनी रहे। हान थीन ने कहा कि अक्सर देखने में आता है कि गन्ने की खेती में अगर पानी कम मिलता है तो गन्ने की मिठास पर असर पडने के साथ शुगर उत्पादन में भी गिरावट देखने को मिलती है। क्लाइमेट स्मार्ट फार्मिंग में सुव्यवस्थित तकनीक अपनाकर गन्ने की फसल में जितना पानी चाहिए उतना पानी पौधे को उपलब्ध कराया जाता है। साथ पौधे पर नमी बनी रहे इसके लिए भी व्यवस्था की जाती है। क्लाइमेट स्मार्ट फार्मिंग से की गयी गन्ने की खेती में चीनी का उत्पादन भी बढ़ा रहता है और शुगर की गुणवक्ता भी बरकार रहती है। हान थीन ने कहा कि इस तकनीक से उत्पादित की गय़ी गन्ने की खेती जैविक पद्दतियों पर आधारित होती है और उससे उत्पादित ऑरर्गेनिक चीनी के दाम सामान्य चीनी की तुलना में ज्यादा होते है, जबकि फसल का खर्चा सामान्य गन्ने की खेती की तुलना में कम होता है।

ग़ौरतलब है कि बिम्सटेक की स्थापना 6 जून 1997 में बैंकॉक घोषणा पत्र के माध्यम से हुई थी जिसके बाद यह उप क्षेत्रीय संगठन अस्तित्व में आया। संगठन के सदस्य देशों के बीच समय समय पर सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक सहयोग के अलावा कृषि क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए एजेंडा आधारित सम्मेलन होते रहते हैं इसी क्रम में देश की राजधानी दिल्ली में बिम्सटेक कृषि सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here