आंध्र प्रदेश: बंद पड़ी चीनी मिलों को पुनर्जीवित करने की कोशिश

196

अमरावती: आंध्र प्रदेश सरकार ने चीनी और डेयरी उद्योग के विकास के लिए कोशिश तेज कर दी है। इसके तहत 15 जुलाई को डेयरी क्षेत्र के विकास के लिए अमूल के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करेगी। राज्य सरकार के अधिकारियों के अनुसार, इससे डेयरी किसानों को आधुनिक तकनीक की मदद के साथ साथ बेहतर विपणन सुविधा और बेहतर दर प्राप्त करने में मदद मिलेगी। शुक्रवार को अमरावती में सहकारी क्षेत्र में डेयरी विकास और चीनी मिलों की समीक्षा बैठक के दौरान, मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि, बंद पड़ी इकाइयों को पुनर्जीवित किया जाना चाहिए और मिलों के लिए एक योजना और प्रस्तावों का मसौदा तैयार करने के लिए कहा।

डेयरी विकास के लिए सभी कदम उठाने के अलावा अमूल के साथ 15 जुलाई तक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करेंगे, जिससे डेयरी किसानों को बेहतर कीमत मिलेगी। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को अमूल के साथ समझौता ज्ञापन के लिए दिशानिर्देश तैयार करने के लिए कहा है और कहा है कि, डेयरी किसानों को लाभान्वित करने के लिए पशुधन की भलाई और सहकारी क्षेत्र को मजबूत करने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री रेड्डी को सहकारी क्षेत्र की पिछली स्थितियों से अवगत कराया।

बंद पड़ी चीनी मिलों को पुनर्जीवित करने की कोशिश यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here