चीनी मिल में गन्ना किसानों को 10 रुपए में खाना देने की योजना न शुरू करने पर रोष प्रकट

229

रोहतक (हरियाणा): किसान सभा ने आरोप लगाया है कि क्षेत्र के गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर वह कई बार हरियाणा सरकार को ज्ञापन सौंप चुके है, इसके बाद भी राज्य सरकार किसानों की मांगों पर विचार नहीं कर रही है।

जिले के किसानों की मांगों को लेकर सोमवार को किसान सभा के जिला अध्‍यक्ष प्रीत सिंह की अगुआई में एक प्रतिनिधिमंडल ने यहां के भाली चीनी मिल के एमडी से मुलाकात की और उन्हें अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा। किसान सभा के जिला सचिव सुमित सिंह ने बताया कि गन्ने का रेट बढ़ाने, पुराने बकाये के भुगतान के साथ ही मौजूदा सीजन के गन्ने का भुगतान 14 दिन के भीतर करने, किसानों को कंट्रोल रेट पर चीनी देने, मिल में भ्रष्टाचार के मामलों पर कार्रवाई करने आदि मांगो को लेकर कई बार सरकार को ज्ञापन दिया जा चुका है, लेकिन सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया, जिसके बाद चीनी मिल को मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपने का निर्णय लिया गया। इसी के तहत सोमवार को किसान सभा के जिला अध्‍यक्ष प्रीत सिंह की अगुआई में प्रतिनिधिमंडल चीनी मिल एमडी से मिला और उन्हें किसानों की समस्याओं से अवगत कराया। एमडी ने गन्ने का जल्द भुगतान करने के साथ ही अन्य मांगों को शीघ्र हल करने का आश्वासन प्रतिनिधिमंडल को दिया है।

प्रतिनिधिमंडल ने चीनी मिल में किसानों को 10 रुपए में खाना देने की योजना अब तक शुरू न किये जाने पर भी रोष प्रकट किया।

सहकारिता मंत्री बनवारी लाल ने घोषणा की थी कि राज्य के सभी सहकारी चीनी मिलों में अटल किसान और मजदूर कैंटीन खोली जाएंगी, जहा 10 रुपये में किसानों और मजदूरों को भोजन प्रदान किया जाएगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here