नहीं रहे पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली, 66 साल की उम्र में हुआ निधन

488

आज भारतीय राजनीति को एक बड़ी क्षति हुई है, क्यूंकि पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण जेटली का शनिवार को 66 वर्ष की आयु में निधन हो गया। आपको बता दें कि जेटली लम्बे समय से बीमार चल थे। पिछले हफ्ते सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था।

जेटली को 9 अगस्त को एम्स में ICU में भर्ती कराया गया था और अधिकारियों ने शुक्रवार से जेटली की स्वास्थ्य स्थिति पर कोई बुलेटिन जारी नहीं किया। आज एम्स ने एक बयान जारी कर कहा है कि वे बेहद दुख के साथ सूचित कर रहे हैं कि 24 अगस्त को 12 बजकर 7 मिनट पर माननीय सांसद अरुण जेटली अब हमारे बीच में नहीं रहे।

उनके निधन के बाद देश भर में उनको श्रद्धांजलि दी जा रही है। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान BJP को शिखर पर पहुंचाया था। पेशे से वकील, अरुण जेटली ने नरेंद्र मोदी की कैबिनेट का एक महत्वपूर्ण हिस्सा थे। उन्होंने वित्त और रक्षा विभागों को संभाला और अक्सर सरकार के मुख्य संकटमोचन के रूप में कार्य किया।

जेटली ने अपनी सेहत अस्वस्थता के कारण 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था। जेटली, जिन्होंने अप्रैल 2018 की शुरुआत से कार्यालय जाना बंद कर दिया था, 23 अगस्त 2018 को वित्त मंत्रालय में वापस आ गए थे।

दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के देहांत के कुछ दिनों बाद जेटली का निधन देश के लिए एक बड़ा नुक्सान है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here