बांग्लादेश: चीनी मिलों का कारोबार ठप होने से पार्ट्स सप्लायर कंपनी को नुकसान

208

ढाका: बांग्लादेश में छह चीनी मिलें बंद होने से चीनी मिल पार्ट्स सप्लायर रेनविक जाजनेस्वर एंड कंपनी (बीडी) लिमिटेड को भारी नुकसान हो रहा है। मिलें बंद होने के कारण पार्ट्स की बिक्री में तेज गिरावट आई है। सरकार ने कोविड -19 महामारी के बीच 2020 में सुधार और आधुनिकीकरण के लिए छह चीनी मिलों को बंद करने का फैसला किया। नतीजतन, राज्य के स्वामित्व वाली कंपनी इन मिलों को रेनविक जाजनेश्वर अपने उत्पादों की आपूर्ति नहीं कर सकी, जिससे इसके राजस्व में और गिरावट आई। रेनविक जाजनेश्वर के अधिकारियों के अनुसार, 1881 में कुश्तिया में 38.98 एकड़ भूमि पर स्थापित कंपनी शुरू में लाभ में थी, लेकिन अब कर्ज और अधिक खर्च के कारण भारी नुकसान उठा रही है।

उन्होंने कहा कि, कंपनी चीनी मिलों के पुर्जों की मरम्मत और निर्माण करके औसतन हर साल लगभग 15 करोड़ रुपये कमाती है। हालांकि, छह मिलों के बंद होने से आय में भारी गिरावट आई है।हालाँकि कंपनी ने FY 2019-20 के दौरान Tk 13 करोड़ से अधिक की कमाई की, लेकिन अगले वित्तीय वर्ष में Tk6 करोड़ कमाने की संभावना है। कंपनी के प्रबंध निदेशक (एमडी) अल-वदूद अमीन ने कहा, हम पिछले कुछ सालों तक मुनाफे में थे। लेकिन, वर्तमान में, सरकार द्वारा भुगतान में देरी और निधि संकट के चलते हम 3 करोड़ के घाटे में चल रहे हैं।छह बंद चीनी मिलों के बंद होने के कारण हमारी कमाई कम हो गई है। हमारा पूरा कारोबार अब केवल नौ मिलों पर निर्भर है।हालांकि, हमारी वित्तीय कठिनाइयों को दूर करने के लिए विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here