चीनी मीलों को जून के अंत तक मिले 2,559 करोड़ रूपये

175

मुंबई : चीनी मंडी

गन्ना बकाया भुगतान करने में नाकाम चीनी मिलों के लिए केंद्र सरकार ने मार्च में सॉफ्ट लोन योजना की घोषणा की थी। महाराष्ट्र में बैंकों ने जून के अंत तक कुल 2,559.02 करोड़ रुपये के लोन मंजूर किए हैं। इस योजना में महाराष्ट्र की 172 में से 49 मिलों के सॉफ्ट लोन आवेदन बैंकों ने अस्वीकार कर दिए हैं।

हालांकि, बैंकिंग बाधाओं ने लोन मंजूरी के साथ-साथ वितरण को रोक दिया था, वित्तीय संस्थानों ने मिलों को अपनी क्रेडिट सीमा और चीनी के लिए क्षेत्रीय जोखिम सीमा जैसे कारकों की ओर इशारा किया था। मूल रूप से, प्रस्तावों को मंजूरी देने की समय सीमा 31 मई थी, जिसे बाद में जून के अंत तक बढ़ा दिया गया था।

महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक (MSC) बैंक द्वारा प्राप्त 60 प्रस्तावों में से केवल 45 को मंजूरी दी गई, जबकि जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों (DCCB) को प्राप्त हुए 61 प्रस्तावों में से 55 को मंजूरी दी गई। इसी तरह, राष्ट्रीयकृत वाणिज्यिक बैंकों ने 37 प्रस्तावों में से 15 को मंजूरी दे दी, जबकि शहरी बैंकों ने 13 में से 7 प्रस्तावों के लिए अपनी सहमति दी। स्वीकृत 2,559 करोड़ रुपये में से अब तक मिलों को 2,510.64 करोड़ रुपये मिले हैं। इस बीच, सॉफ्ट लोन ने मिलों को भुगतान में तेजी लाने में मदद की है। 15 जुलाई तक मिलों को 23,173.29 करोड़ रुपये का भुगतान करना था, उसमे से अब तक कुल 22,367.53 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। अब 790.76 करोड़ रुपये बकाया है, जो कुल देय का लगभग 3 प्रतिशत है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here