बिहार: मोतिहारी चीनी मिल फिर से शुरू होनी की संभावना कम

186

पटना: मोतिहारी चीनी मिल के फिर से खुलने की कोई उम्मीद अब कम बची है। बिहार के गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार ने जिला अधिकारियों को श्रमिकों और किसानों के बकाये का भुगतान करने के लिए मिल बेचने के लिए इसकी संपत्ति का अनुमान लगाने का निर्देश दिया है। गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार ने मोतिहारी चीनी मिल के लंबित बकाये और उसकी संपत्ति के अनुमान के बारे में 15 दिनों के भीतर रिपोर्ट देने को कहा है। उन्होंने कहा कि, मोतिहारी चीनी मिल की संपत्ति बेचकर श्रमिकों और किसानों का बकाया भुगतान किया जाएगा।

Newsclick.in में प्रकाशित खबर के मुताबिक, मोतिहारी से विधायक प्रमोद कुमार ने स्पष्ट कर दिया है कि, मोतिहारी चीनी मिल को दोबारा शुरू करना या पुनर्जीवित करना संभव नहीं था। विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि, उन्होंने जिलाधिकारी से हाल ही में एक बैठक में बंद मोतिहारी चीनी मिल और कल्याणपुर चीनी रिफाइनरी और चकिया चीनी मिल की स्थिति की समीक्षा करने के लिए कहा। अधिकारियों के अनुसार, गन्ना मंत्री के निर्देश के बाद मोतिहारी चीनी मिल की संपत्तियों के अधिग्रहण की संभावना है। विभिन्न कारणों से मोतिहारी चीनी मिल की संपत्तियां वर्षों से विवादित हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here