बिहार: तीन दशक से बंद चीनी मिल पर राजनीती हुई तेज…

242

पूर्णिया: जिले की 30 साल पहले बंद हो चुकी बनमनखी चीनी मिल फिर से शुरू करने को लेकर राजनीती तेज हो गई है। विधानसभा चुनाव में एशिया की सबसे बड़े मानी जानेवाली चीनी मिल का मुद्दा और गरमा रहा है। इलाके के लोगों ने भी मिल फिर से शुरू करने की मांग उठाई है। मिल के बदहाली के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए, विपक्ष ने हमले तेज कर दिए है। बनमनखी चीनी मिल किसी जमाने में केवल बिहार ही नही दुनिया की सबसे आधुनिक चीनी मिल के तौर पर जानी जाती थी, लेकिन हजारो किसान और कर्मियों को रोजीरोटी देनेवाली यह मिल अब खंडहर हो चुकी है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले हर चुनाव से यहाँ आनेवाला नेता, चाहे वह किसी भी दल या पार्टी का हो इस मिल को शुरू करने का वादा करता है, लेकिन यह वादा अभी तक किसीने भी नही पूरा किया है। नेताओं के वादाखिलाफी से यहाँ के किसान उब चुके है, और इस बार वह मिल शुरू करने को लेकर आरपार की लढाई को भी तैयार है। अब मिल शुरू करने की चर्चा फिर से तेज हुई है, इससे इस इलाके के लाखों लोगों में उम्मीद की किरण जगी है। कंपनी मालिक यहां चीनी के साथ-साथ इथेनॉल और विद्युत परियोजना शुरू करने की बात कर रहे हैं। जर्जर हो चुके इस चीनी मिल के शुरू होने से इलाके के लाखों किसानों समेत हजारों कामगारों को रोजगार मिल सकता है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here