बिहार: गन्ना किसान 28 जनवरी को मिलों के सामने धरना देंगे

113

पटना: बिहार राज्य गन्ना उत्कर्ष किसान महासभा ने शनिवार को अपनी मांगों के समर्थन में 28 जनवरी को चीनी मिलों के सामने राज्यव्यापी धरने की घोषणा की। उनकी मांगों में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 400 रुपये प्रति क्विंटल गन्ने का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) तय करना, गन्ना किसानों को बकाया का भुगतान और रीगा मिल में पेराई सत्र की तत्काल शुरुआत करना शामिल है। सिकटा से सीपीआई (एमएल) के विधायक और महासभा के राज्य संयोजक बीरेंद्र प्रसाद गुप्ता ने कहा कि, पार्टी सदस्य और कार्यकर्ता 28 जनवरी को सभी चीनी मिलों के सामने अपनी मांगों के लिए दबाव बनाने के लिए धरना देंगे।

महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के डी यादव और बिहार राज्य के सह-संयोजक उमेश सिंह ने कहा कि, गन्ना उत्पादक किसानों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले कीटनाशकों की कीमतों में भारी बढ़ोतरी के बावजूद गन्ने का भाव नहीं बढ़ाया गया है। सीतामढ़ी में रीगा चीनी मिल में पेराई सत्र की शुरुआत में देरी पर चिंता व्यक्त करते हुए, नेताओं ने कहा कि इससे हजारों किसानों और 700 मिल श्रमिकों के लिए तीव्र समस्याएं पैदा हुई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here