बिजनौर में गन्ने के खेतों पर हाथियों के हमले की संभावना…

218

बिजनौर, उत्तर प्रदेश: वन विभाग ने जिले के किसानों को अलर्ट कर दिया है की, गन्ने पर हाथियों का हमला होने की संभावना है। रसदार गन्ने के शौकीन हाथी मानव निवास में प्रवेश करते हैं, जिससे मानव-हाथी संघर्ष की स्थिति पैदा होती है। टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक अतीत में, इससे बड़े पैमाने पर फसल की क्षति हुई है, किसानों पर हमले और हाथियों की हत्याएं भी हुई हैं। वनवासियों के अनुसार, बिजनौर जिले के नजीबाबाद और बिजनौर डिवीजन में 205 से अधिक हाथी हैं, इनमें से 100 से अधिक अमनगढ़ टाइगर रिजर्व में हैं, जो कृषि क्षेत्र से सटे इलाकें हैं।

वन विभाग ने हाथियों को किसी भी तरह के नुकसान से बचाने के लिए किसानों को अपनी फसल पर केवल जैव कीटनाशकों का छिड़काव करने के लिए कहा है। बिजनौर के प्रभागीय वन अधिकारी (डीएफओ) एम. सेमरन ने कहा, हमारे कर्मचारी अलर्ट पर है। मानव-हाथी संघर्ष को रोकने के लिए, किसानों को जंगलों की सीमा से लगे क्षेत्रों में अकेले खेतों में न जाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। नजीबाबाद के डीएफओ मनोज कुमार शुक्ला ने कहा, हम ग्रामीणों के लिए एक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बना रहे हैं। हमने किसानों से आग्रह किया है कि, यदि वे क्षेत्र में किसी हाथी या तेंदुए को देखते हैं तो तुरंत अधिकारियों को सूचित करें।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here