“धनतेरस पर चीनी मिलों को नहीं बेचने देंगे चीनी”

402

पुरकाजी (मुजफ्फरनगर): गन्ना बकाया का मुद्दा गरमाता ही जा रहा है। अब किसान संघटन ने चीनी मिलों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) भी गन्ना किसानों का साथ देने के लिए उनके साथ खड़ी है। भाकियू का कहना है कि यदि गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान जल्द से जल्द नहीं किया गया तो धनतेरस पर चीनी की गाड़ियां नहीं बिकने दी जाएगी। उन्होंने साफ संदेश दिया कि अगर हमारी दिवाली नहीं तो चीनी मिल मालिकों की भी दिवाली नहीं मनाने दी जाएगी।

जिले के फलौदा गांव में भाकियू के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने किसानों को आपसी मतभेद भुलाकर संगठन को मजबूत करने और अपने हक के लिए आंदोलन करने का आहवान किया। उन्होंने कहा कि हमें अपने संगठन को मजबूत बनाना होगा। किसानों के भुगतान को लेकर हम लंबी लड़ाई लड़ सकते हैं औऱ उन्हें न्याय दिला सकते हैं।

बैठक में जनरल सेक्रेटरी राजू अहलावत, पुरकाजी चेयरमैन जहीर फारूकी, नवीन राठी, जिलाध्यक्ष धीरज लाटियान, मांगेराम त्यागी ने संगठन की मजबूती की अपील की। उन्होंने कहा कि भाकियू एक ऐसा संगठन है, जो किसानों, मजदूरों की आवाज को उठाता आया है। मिल मालिक हमारे किसान भाईयों में फूट डालने का काम करते हैं ताकि वे अपने काम निकाल सकें। इस दौरान उत्तम शुगर मिल के जीएम पुष्कर मिश्रा ने कहा किसानों के जो 52 करोड़ रुपए के बकाये थे, उनमें से 22 करोड़ रुपए का भुगतान कर दिया गया है, दूसरे चरण में जल्द ही 11 करोड़ रुपए का भुगतान किया जाएगा और बचे का भुगतान भी मिलें जल्द करने वाली हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here