ब्राजील: गैसोलीन के टैक्स में कटौती से मिलें एथेनॉल की जगह चीनी उत्पादन को दे सकती है बढ़ावा

193

साओ पाउलो/न्यूयॉर्क: ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो द्वारा चुनाव को ध्यान में रखते हुए गैसोलीन टैक्स में तेजी से कटौती करने से एथेनॉल के प्रॉफिट मार्जिन में गिरावट हो रही है। जिसके कारण चीनी मिलें अपना मोर्चा एथेनॉल उत्पादन को छोड़कर चीनी पर केंद्रित करने की उम्मीद है। चीनी और एथेनॉल विशेषज्ञों ने कहा कि, गन्ना आधारित एथेनॉल की बिक्री पर लाभ, चीनी की तुलना में कम हो गया है और इसलिए मिले जितना संभव हो सके चीनी उत्पादन में स्थानांतरित हो जाएंगी।

रायटर्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक, JOB Economy के विश्लेषक जूलियो मारिया बोर्गेस ने कहा, मिलें पहले से ही एथेनॉल बेचकर घाटा उठा रही हैं, अब वे इसका उत्पादन क्यों जारी रखेंगे?

दुनिया भर में चीनी उत्पादकों के लिए यह डर सता रहा है कि, अगर ब्राजील की मिलें एथेनॉल उत्पादन में तेजी से कटौती करती हैं, और चीनी उत्पादन बढ़ाती है तो वैश्विक बाजार में चीनी की कीमतें कम हो जाएगी। ब्राजील की सरकार ने ईंधन पर संघीय करों को अस्थायी रूप से रद्द कर दिया है। चूंकि गैसोलीन पर एथेनॉल की तुलना में भारी कर लगाया जाता था, इसलिए करों को मिटाने से पंपों पर एथेनॉल के मूल्य लाभ में कमी आई।

रायटर्स के मुताबिक, न्यूयॉर्क स्थित ब्रोकर पैरागॉन ग्लोबल मार्केट्स, एलएलसी के प्रबंध निदेशक माइकल मैकडॉगल ने कहा, एथेनॉल पेरीटी पहले से ही 13.70 (सेंट प्रति पाउंड) है, इससे अधिक नुकसान और क्या हो सकता है? “इसकी तुलना में, ICE पर चीनी वायदा सोमवार को 18.35 सेंट प्रति पाउंड पर बंद हुआ, जो ब्राजील में एथेनॉल के मूल्य से लगभग 35% अधिक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here