Cargill का पोलैंड में 45 मिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश: यूरोपीय घुलनशील फाइबर बाजार में प्रवेश किया

109

 

न्यूयॉर्क : कम चीनी वाले उत्पादों की बढ़ती मांग को देखकर कारगिल (Cargill) अपने यूरोपीय पोर्टफोलियो स्टार्च, स्वीटनर और टेक्सचराइजर्स में घुलनशील फाइबर जोड़ने के लिए 45 मिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश कर रही है। Foodingredientsfirst.com में प्रकाशित खबर के मुताबिक, जर्मनी के कार्लज़ूए इंस्टीट्यूट फॉर टेक्नोलॉजी के साथ साझेदारी में विकसित माइक्रो-रिएक्टर प्रौद्योगिकी के आधार पर, कारगिल ने एक विशेष लाइसेंस और पेटेंट दोनों प्राप्त किए हैं। घुलनशील फाइबर चीनी को 30 प्रतिशत तक कम करने में सक्षम होते हैं। कारगिल हमेशा से कन्फेक्शनरी, मिठाई बेकरी, फिलिंग, अनाज, आइसक्रीम और डेयरी में कैलोरी की कमी और फाइबर संवर्धन का समर्थन करते हैं। चीनी कम करने के क्षेत्र में कारगिल पहले से ही एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी के रूप में उभरा है, और कारगिल के पोर्टफोलियो में नए घुलनशील फाइबर शामिल हो गया हैं।

Foodingredientsfirst.com के अनुसार, फायबर व्यवसाय विकास के प्रबंधक मनुज खन्ना ने कहा कि, वर्तमान में उपलब्ध अधिकांश घुलनशील फाइबर के विपरीत, हमारे नए उत्पाद विशेष रूप से खाद्य निर्माताओं के सामने अद्वितीय चुनौतियों का समाधान करने के लिए डिज़ाइन किए गए थे क्योंकि हमारा उद्देश्य कम कैलोरी और कम शर्करा के साथ अपने उत्पादों के पोषण संबंधी प्रोफाइल में सुधार करना है। हमारे घुलनशील फाइबर उपभोक्ता संतुष्टि के लिए महत्वपूर्ण स्वाद, पाचन सहनशीलता और स्वाद के मामले में शानदार प्रदर्शन प्रदान करते हैं। कारगिल ने दावा किया कि, यह पेटेंट तकनीक कंपनी को अगली पीढ़ी के फाइबर का उत्पादन करने की भी अनुमति देगी। ये भविष्य में घुलनशील फाइबर चीनी में कमी को लक्षित करने वाली प्रमुख बाजार जरूरतों को पूरा करेंगे।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here