गन्ना बकाया भुगतान नहीं करने के कारण चीनी मीलों के खिलाफ मामला दर्ज

677

हापुड़: उत्तर प्रदेश में गन्ना बकाया मुद्दा काफी गरमाया हुआ है, जिसके बाद सरकार एक्शन मोड़ में आ गई ही। उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के चीनी मिल मालिकों को गन्ना किसानों के सारा बकाया 31 अक्टूबर, 2019 तक भुगतान करने को कहा है। ऐसे में विफल रहने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की भी चेतावनी दी है।

ताजा कार्रवाई में, उत्तर प्रदेश पुलिस ने सिम्भावली शुगर्स लिमिटेड के खिलाफ गन्ना बकाया राशि को लेकर मामला दर्ज किया है।

सहायक पुलिस अधीक्षक सर्वेश मिश्रा ने कहा की, “सिंभोली शुगर मिल के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया है क्योंकि उन्होंने बार-बार निर्देश के बाद भी गन्ना किसानों का भुगतान नहीं किया है। इससे किसान नाराज हैं और उन्होंने शिकायत दर्ज कराई है।”

सिम्भावली शुगर मिल की प्रबंध निदेशक गुरसिमरन कौर उन पांच कंपनी अधिकारियों में शामिल हैं, जिन पर भारतीय दंड संहिता की धाराओं के साथ-साथ आवश्यक वस्तु अधिनियम की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

शिकायत में, किसानों ने आरोप लगाया कि उन्हें चीनी मिल द्वारा चीनी बेचने से प्राप्त राशि का 85 प्रतिशत हिस्सा मिलना चाहिए, लेकिन उन्हें यह नहीं दिया गया।

अब तक गन्ना बकाया के कारण मोदी, सिम्भावली और यदु समूह पर FIR दर्ज किये गए है।

आपको बता दे, किसानों को गन्ना बकाया दिलाने के लिए किसान नेता सरदार वीएम सिंह एक अहम लड़ाई लड़ रहे है। गन्ना किसानों को उनका बकाया ब्याज सहित मिले, इसको लेकर सिंह ने हमेशा से आवाज़ उठाई है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here