केंद्र सरकार का 6 महीने में एथेनॉल पंप नेटवर्क स्थापित करने का लक्ष्य

138

नई दिल्ली: भारत सरकार काफी समय से वैकल्पिक ईंधन समाधानों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। पेट्रोल और डीजल के वैकल्पिक ईंधन में से एक एथेनॉल है। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी वाहनों में एथेनॉल के इस्तेमाल की वकालत करते रहे हैं। उन्होंने ऑटो उद्योग से फ्लेक्स-फ्यूल इंजन के साथ आने की अपील की है। फ्लेक्स-फ्यूल इंजन पेट्रोल और इथेनॉल दोनों पर चल सकते हैं। इसके अलावा, इथेनॉल-मिश्रित पेट्रोल शुद्ध पेट्रोल या डीजल की तुलना में कम प्रदूषण के लिए जाना जाता है। हाल ही में SIAM Annual Conventional में गडकरी ने कहा है कि, सरकार 6 महीने में देश में इथेनॉल पंपों का एक नेटवर्क स्थापित करने का लक्ष्य लेकर चल रही है।

गडकरी ने ऑटो उद्योग के हितधारकों को आश्वासन दिया है कि सरकार पूरे देश में एथेनॉल की उपलब्धता सुनिश्चित करेगी। भारत का लक्ष्य 2022 तक E10 और 2025 तक E20 हासिल करना है। इसका मतलब है कि 2022 तक 10% एथेनॉल मिश्रित पेट्रोल पूरे भारत में उपलब्ध होगा। साथ ही, 2025 तक, 20% इथेनॉल मिश्रित पेट्रोल पूरे देश में उपलब्ध होगा। गडकरी ने कहा है कि, E100 आगामी इथेनॉल ईंधन स्टेशनों पर उपलब्ध होगा। इन इथेनॉल ईंधन भरने वाले स्टेशनों का संचालन सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियां करेंगी।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here