केंद्र सरकार द्वारा नवंबर 2018 के लिए 22 लाख टन चीनी बिक्री कोटा जारी…

765
31 अक्टूबर को जारी अधिसूचना में खाद्य मंत्रालय ने देश के  513 मिलों  को चीनी कोटा आवंटित किया…
 
नई दिल्ली : चीनी मंडी
31 अक्टूबर को जारी अधिसूचना में सरकार के खाद्य मंत्रालय ने देश के  513 मिलों को चीनी बिक्री का 22 लाख टन कोटा आवंटित किया है। सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है की, जिन चीनी मिलों ने सितंबर, 2018 के महीने के लिए पी-द्वितीय रिटर्न दायर नहीं किया है, उनके लिए नवंबर, 2018 के महीने के दौरान घरेलू बिक्री और प्रेषण के लिए  सफेद / परिष्कृत चीनी को शून्य माना जाएगा  और यह अगले महीने में भी शून्य के रूप में माना जाएगा, जब तक वे पी-द्वितीय वापसी नहीं करते।
वैक्यूम पैन प्रक्रिया के तहत चीनी उत्पादन करने वाली चीनी कंपनियां एक से अधिक चीनी उत्पादन इकाई के साथ नवंबर, 2018 के अंत में सफेद / परिष्कृत चीनी के स्टॉक को बनाए रख सकती हैं, जिसमें भारत सरकार द्वारा बनाई गई बफर स्टॉक की मात्रा या तो इकाई के अनुसार या समूह के लिए पूरा का पूरा होगी। नवंबर  महीने के दौरान जिस चीनी मिलों में इथेनॉल उत्पादन क्षमता वाले डिस्टिलरीज हैं और जो बी-भारी गुड़ को चीनी की जगह इथेनॉल का उत्पादन करने के लिए गन्ने का इस्तेमाल करती है, वह निर्धारित अतिरिक्त मात्रा में सफेद / परिष्कृत चीनी बेचने के लिए पात्र होंगे।
अक्टूबर 2018 के महीने के दौरान बी-हेवी मोलासिस से उत्पादित इथेनॉल उत्पादन के बदले चीनी की अतिरिक्त मात्रा की गणना गन्ना आदेश, 1966 में इस संबंध में निहित प्रावधानों के अनुसार की जाएगी। चीनी मिलों को शुगर मौसम 2018-19 के दौरान निर्यात के लिए आवंटित एमआईईक्यू की पूरी मात्रा का निर्यात करने का भी आदेश दिया गया  है, इसके लिए मिलों को अपने त्रैमासिक निर्यात लक्ष्य निर्धारित करने और डीएफपीडी को अंतरंग करने की आवश्यकता होती है। यदि कोई चीनी मिल अपने त्रैमासिक चीनी निर्यात लक्ष्य को प्राप्त करने में विफल रहता है, तो तिमाही के दौरान गैर-निर्यातित चीनी की समतुल्य मात्रा को चीनी स्टॉक की होल्डिंग सीमा आदेश के लिए आवंटित चीनी की मात्रा से प्रत्येक तिमाही में प्रत्येक महीने तीन बराबर किश्तों में काटा जाएगा।
SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here