“मुख्यमंत्री, किसानों के हक के लिए डटने की बजाए शुगर मिल मालिकों के साथ जा मिले”

978

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये
चंडीगढ़,06 मई (UNI) पंजाब आम आदमी पार्टी (आप) के प्रधान भगवंत मान करतारपुर साहिब कोरीडोर के लिए सड़क निर्माण के वास्ते अधिग्रहित की गई जमीन के मालिक किसानों की मुआवजा राशि से टीडीएस (टैक्स) काटे जाने का विरोध किया है।

उन्होंने राज्य और केंद्र की सरकारों से मांग की है कि वे ऐसे फैसले किसानों पर न थोपें क्योंकि किसान पहले से ही आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं। श्री मान ने आज यहां कहा कि कैप्टन अमरिंदर सरकार तथा मोदी सरकार किसानों के साथ सौतेला रवैया अपना रही हैं। राज्य सरकार ने किसानों से वायदे कर सभी कर्जे माफ नहीं किए। गन्ने का अरबों रुपए बकाया है ।

आप प्रधान ने कहा कि स्वामीनाथन सिफारिशें लागू करने के उलट न्यूनतम समर्थन मूल्य में भी बदरंग दाने के नाम पर प्रति क्विंटल 4.60 रुपए के हिसाब से कटौती की जा रही है। अब श्री करतारपुर साहिब कोरीडोर के लिए अपनी जमीनें देने करने वाले किसानों के मुआवजा राशि से टैक्स काटा जा रहा है।

श्री मान के मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह और केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल पर तंज कसते कहा कि निजी राजनीतिक स्वार्थों के लिए कैप्टन और बादल परिवार में श्री करतारपुर साहिब के मार्ग का सेहरा अपने सिर बांधने की होड़ मची थी , लेकिन अब इन किसानों की मदद करने लिए आगे कोई नहीं आ रहा। इस मामले पर कैप्टन और बादलों की चुप्पी को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया।

श्री मान ने कहा कि कैप्टन सिंह भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तरह किसानों के हक और हितों के लिए डटने की बजाए शुगर मिल मालिकों के साथ जा मिले। उन्होंने गन्ना उत्पादकों सहित पंजाबियों से अपील की है कि कांग्रेस तथा अकाली भाजपा गठबंधन का उम्मीदवार उनसे वोट लेने आये तो गन्ने की बकाया राशि अब तक जारी क्यों नहीं हुई यह सवाल करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here