मुख्यमंत्री ने दिया आश्वासन : चीनी मिलें जल्द चुकाएंगी गन्ना बकाया भुगतान

873

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र की तरह, कर्नाटक में भी गन्ना किसानों को गन्ने के भुगतान का इंतजार है। राज्य के बेलगाम में गन्ना उत्पादक गुस्से में हैं क्योंकि उन्हें गन्ने का बकाया नहीं मिला है, जो उन्होंने चीनी मिलों को बेचा था।

कर्नाटक राज्य गन्ना उत्पादक संघ के अध्यक्ष कुरुबुर शांताकुमार ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी से मुलाकात की ताकि उन्हें किसानों के पीड़ितों के बारे में जागरूक किया जा सके।

सीएम ने किसानों को उनकी कुछ लंबित मांगों पर शीघ्र समाधान करने का आश्वासन दिया, जिसमें चीनी मिलों द्वारा बकाया राशि का जल्द भुगतान भी एक है।

शांताकुमार ने कहा कि किसानों को मुख्यमंत्री से आश्वासन मिला है कि 27 मई को एक बैठक बुलाई जाएगी और यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए जाएंगे कि किसानों के खिलाफ दर्ज मामले वापस ले लिए जाएं।

गन्ना किसान शशिकांत जोशी ने दावा किया कि चीनी मिलें तय एफआरपी के अनुसार गन्ने का मूल्य नहीं दे रही हैं। उन्होंने कहा, “गन्ना आयुक्त ने लंबित बकाया राशि को चुकाने को लेकर चीनी मिलों को आदेश जारी किया था, लेकिन ऐसा लगता है कि मिलर इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं।”

जोशी को लगता है कि कर्नाटक को गन्ने का बकाया चुकाने के लिए महाराष्ट्र के नक्शेकदम पर चलना चाहिए।

नियम यह बताता है कि कारखाने के मालिकों को गन्ने की फसल सौंपने के बाद 14 दिनों के भीतर एफआरपी राशि किसानों के बैंक खातों में जमा कर दी जानी चाहिए, लेकिन मिलें ऐसा करने में विफल रहीं है।

1 COMMENT

  1. Total sugar cane karnataka state arriers is 3250.44 core and Belgaum district aariers is 1182.55 core as per cane commissionor record. In this FRP is not cliear to Harvest and transprot cliarity. 4-8 KM transport cut the 650 to 700 H&T also same as cut 50-70 kM transportation charges ase same. In this month collect the meeting Deputy commissionr 8 may that timeI have say Sugar cane farmers so many problems face in karnataka, as recovery, H&T. Waight and mesurement and other problems face on sugar cane farmers.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here