गन्ना भुगतान में अगर चीनी मिलें होती है विफल तो मुख्यमंत्री ने दिए कार्रवाई करने के निर्देश

10155

हापुड़, उत्तर प्रदेश: राज्य सरकार द्वारा बार बार भुगतान करने के निर्देशों के बावजूद मिलों द्वारा गन्ना बकाया भुगतान में हो रही देरी से विपक्षियों ने योगी सरकार को घेरा है।गन्ना बकाया सरकार के लिए परेशानी का सबब बना है। शुक्रवार को मेरठ मंडल की समीक्षा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हापुड़ की दो चीन मिल समेत 5 मिलों द्वारा गन्ना भुगतान न किए जाने पर नाराजगी जताई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला प्रशासन को हिदायत दी कि मिल प्रबंधन को सख्ती से किसानों का भुगतान कराए अन्यथा उनके खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करें।

लाइव हिंदुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा कि, गन्ना भुगतान पर कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी, सरकार की प्राथमिकता किसान है। अगर किसानों का गन्ना भुगतान समय से नहीं होता है तो मिलों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

हालही में गन्ना मंत्री ने भी आगामी पेराई सत्र के लिए चीनी मिलों की तैयारियों का आकलन की समीक्षा बैठक आयोजित की थी। उन्होंने भी चीनी मिलों को जल्द से जल्द अपने गन्ना बकाया को चुकाने के निर्देश दिए थे। उन्होंने चेतावनी दी थी की, अगर वे भुगतान में विफल हो जाते हैं, तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरू की जाएगी।

आपको बता दे, उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है की वे गन्ना भुगतान करने के लिए सतत काम कर रहे है और जिसके बाद कई चीनी मिलों द्वारा गन्ना भुगतान भी किया गया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

1 COMMENT

  1. 15 दिनों में किसानों का भुगतान करने को कहा था अभी तक 2019-2020 सीजन का भुगतान नही हुआ.और2020-2021 की सीजन आ गईं ………. सरकार मिलों पर कब कारवाई करेगी.2022 के बाद मे..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here