चीनी मिलों कि मजबूती बनाए रखने के लिए हमे सामूहिक प्रयासों से आगे बढ़ना होगा: शालिनीताई विखे पाटील

163

अहमदनगर : चीनी मंडी

जिला परिषद की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती शालिनीताई विखे पाटिल ने कहा की, सहकारी चीनी उद्योग चुनौतीपूर्ण स्थितियों से गुजर रहा है। भारी वर्षा और प्राकृतिक आपदाओं के कारण, मिलों के सामने बड़ी चुनोतिया हैं। इन सभी समस्याओं पर काबू पाने और सहकारी चीनी मिलों कि मजबूती बनाए रखने के लिए हमे सामूहिक प्रयासों से आगे बढ़ना होगा। पद्मश्री डॉ. विठ्ठलराव विखे पाटिल सहकारी चीनी मिल के पेराई मौसम के अंतिम समारोह में शालिनीताई विखे पाटिल ने अपनी बात कही। समारोह कि अध्यक्षता पूर्व मंत्री आन्नासाहेब म्हस्के -पाटिल द्वारा की गई। मौके पर मिल के वाइस चेयरमैन विश्वासराव कडू, जग्गनाथ राठी, डॉ. भास्करराव खर्डे, निदेशक कैलास तांबे, बापूसाहेब आहेर, दिनेश बर्डे, संतोष ब्राम्हने सहित मिल के सभी निदेशक उपस्थित थे।

उन्होंने कहा कि, सूखे की स्थिति के बावजूद, मिल ने अच्छी तरह से पेराई सीजन पूरा किया है। पद्मश्री विट्ठलराव विखे -पाटिल ने एशिया में पहली सहकारी चीनी मिल शुरू की और आम किसानों को नई दिशा दिखाई है। हमने इस प्रयास को आगे जारी रखा है। लेकिन अभी सहकारी चीनी मिलों के सामने अभूतपूर्व संकट खड़ा है, और इन कठिनाइयों को दूर करने के लिए श्रमिकों, किसानों को मिलकर ठोस प्रयास करने होंगे। इस समय का मार्गदर्शन देते हुए, पूर्व मंत्री आन्नासाहेब म्हस्के -पाटिल ने कहा कि, राधाकृष्ण विखे पाटिल ने अध्यक्ष के रूप में मिल की कमान सफलतापूर्वक संभाली है। इस अवसर पर मिल की ओर से श्रीमती शालिनीताई विखे पाटिल और पूर्व मंत्री अन्ना अनाहेब म्हस्के पाटिल का स्वागत किया गया। समारोह में बड़ी संख्या में सभी निदेशक, किसान, सदस्य, अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here