भारत चाबहार बंदरगाह के माध्यम से व्यापार क्षमता को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध: मंत्री सोनोवाल

60

नई दिल्ली : केंद्रीय बंदरगाह, नौवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने ईरान में चाबहार बंदरगाह के उपयोग के माध्यम से मध्य एशियाई क्षेत्र के साथ व्यापार क्षमता को अनलॉक करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दोहराया। मंत्री सोनोवाल ने रविवार को मुंबई में चाहबर दिवस सम्मेलन का उद्घाटन किया।चाबहार बंदर दक्षिण-पूर्वी ईरान में स्थित है और भारतीय उपमहाद्वीप को अफगानिस्तान के साथ-साथ किर्गिस्तान और उज्बेकिस्तान जैसे मध्य एशियाई देशों के साथ जोड़ने के लिए एक आदर्श रणनीतिक स्थान है।

मंत्री सोनोवाल ने सम्मेलन में उपस्थित सभी प्रतिनिधियों और हितधारकों से भारत से ईरान और मध्य एशिया के लिए एक सस्ता, छोटा, तेज और अधिक विश्वसनीय मार्ग बनाने के लिए सुझावों के साथ आगे आने की अपील की। इस अवसर पर ईरान, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, उज्बेकिस्तान और अफगानिस्तान के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।चाबहार बंदरगाह भारत को जोड़ने वाले अंतरराष्ट्रीय उत्तर-दक्षिण परिवहन कॉरिडोर नेटवर्क का भी हिस्सा होगा। INSTC (इंटरनेशनल नॉर्थ-साउथ ट्रांसपोर्ट कॉरिडोर) रूस, यूरोप तक पहुंचने और मध्य एशियाई बाजारों में प्रवेश करने के लिए EXIM शिपमेंट के लिए लगने वाले समय को कम करने के लिए भारत काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here