मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को की गई चीनी मिल की शिकायत

718

बदायूं : कुछ ही दिनों में नया पेराई सीझन शुरू होने जा रहा है, लेकिन प्रदेश में कई सारी मिलों ने 2018 – 2019 पेराई सीझन का बकाया भुगतान अभी तक नही किया है। बकाया भुगतान को लेकर मिलों के रवैये से किसानों में काफी गुस्सा है और वो प्रदेश की सरकार को इसका हल निकालने की गुजारिश कर रहे है।बदायूं जिले के गन्ना किसानों की समस्या मुख्यमंत्री के दरबार में पहुंच गई है। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष बीएल वर्मा और नगर विकास राज्यमंत्री महेश चंद्र गुप्ता के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। अवगत कराया कि बिसौली की यदु शुगर मिल पर किसानों का पिछली साल का करोड़ों का गन्ना मूल्य बकाया है। इसके बाद भी इसी चीनी मिल को सबसे ज्यादा सेंटर आवंटित कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने किसानों की समस्या का निदान कराने का भरोसा दिलाया है। यदु शुगर मिल द्वारा हजारों किसानों को बकाया भुगतान अभी तक नहीं हुआ है। बकाया भुगतान को लेकर किसानों ने आन्दोलन की चेतावनी दी है, जिससे मिल के नये पेराई सत्र पर खतरे के बादल मंडरा रहे है। बकाया भुगतान की समस्या से निपटने के लिए अब सरकार को ही ठोस कदम उठाने पड़ सकते है।

आपको बता दे, योगी सरकार ने चीनी मिलों को अक्टूबर 31 की डेडलाइन दी थी गन्ना बकाया चुकाने के लिए, लेकिन चीनी मिलें विफल रही।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here