उत्तर प्रदेश की चीनी मिल पर छापेमारी से विवाद

225

बदायूं (उत्तर प्रदेश): यदु चीनी मिल पर छापेमारी की गई, जिससे विवाद पैदा हो गया है। गन्ना विभाग जहां इसे गन्ना माफिया की तलाश पर छापे की कार्रवाई बता रहा है, वहीं मिल प्रशासन ने इसे बदले की कार्रवाई करार दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मिल में गन्ना माफिया के सक्रिय होने की शिकायत पर एसडीएम सीपी सरोज, जिला गन्ना अधिकारी रामकिशन, गन्ना सचिव प्रदीप कुमार वर्मा, कोतवाल पंकज लवानिया ने सोमवार की रात यहां की यदु चीनी मिल पर छापा मारा। खबर है कि अधिकारियों को देखकर वहां मौजूद किसान और चालक दो ट्रॉलियां छोड़कर भाग गए। बाद में पुलिस उन्हें पकड़कर थाने ले गई, जबकि जिन किसानों के नाम पर्ची थी, उन्हें छोड़ देने का दावा किया गया। इस कार्यवाही को मिल प्रशासन ने इसे प्रतिशोध की कार्रवाई करार दिया है।

बता दें कि जिला गन्ना अधिकारी ने करीब एक महीने पहले इसी मिल के गेट से बिजनौर जनपद की दो ट्रॉलियां पकड़कर उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एक निजी समाचार-पत्र जागरण को मिल के एक अधिकारी ने बताया कि इसके बाद मिल ने गन्ना विभाग के खिलाफ हाईकोर्ट में अवमानना का केस दायर कर दिया। उसी के प्रतिशोध में यह बदले की कार्रवाई की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here