गोवा: किसानों का गन्ना अच्छे मूल्य में खरीदा गया

98

पणजी: एक तरफ गोवा में राज्य की एकमात्र संजीवनी चीनी मिल बंद होने से हजारो गन्ना किसान परेशान है, वही दूसरी ओर सुदूर कोटिगाओ में उमेश (दया) गाँवकर नामक एक सामान्य आदमी गन्ना किसानों का तारणहार बनकर सामने आया है। आपको बता दे की, उमेश गुड़ उत्पादन इकाई शुरू करके गन्ना किसानों के बचाव में आए, जिसके लिए उन्होंने स्थानीय किसानों से गन्ना खरीदना शुरू किया। खुद एक किसान होने के नाते उमेश गाँवकर गन्ना किसानों की दुर्दशा को समझते थे। इसलिए उन्होंने कच्चे गन्ने की उपज प्रति क्विंटल 1,000 रूपये पर खरीदनी शुरू की, जो कि सरकार के समर्थन मूल्य 650 रुपये प्रति क्विंटल से अधिक है।

उमेश की उदारता यहीं समाप्त नहीं होती है। वह गन्ना क्रशिंग के बाद उत्पन्न कचरे को उनके पड़ोस के डेयरी किसानों के लिए मुफ्त मुहैया कराया। गाँवकर कोटिगाओ में दूरस्थ येड्डा वार्ड के निवासी हैं और रातोंरात गुड़ उत्पादन की इकाई स्थापित करने का साहसी निर्णय लिया। उनकी इकाई अब आठ स्थानीय लोगों को रोजगार प्रदान करती है। उन्होंने कहा की, मेरी इकाई से लगभग 20 किसान जुड़े हुए हैं, और उनकी फसल लगभग 200 टन है। उमेश ने कहा, वे रोजाना 600 किलो से ज्यादा गुड़ का उत्पादन करते हैं। उन्होंने कहा, इस साल जनवरी में ही गृह उद्योग शुरू किया है और स्थानीय लोग मई तक 4-5 महीने के लिए यहां रोजगार पा सकेंगे। उन्होंने कहा की, इस संयंत्र को स्थापित करने के लिए लगभग 5 लाख रुपये खर्च किए। अब तक हमने लगभग 15 लाख रुपये का कारोबार किया है। ‘

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here