जल्द बागेश्वरी चीनी मिल में पेराई होगा बंद

188

परतूर: परतूर तालुका में किसानों के लिए शुरु से ही वरदान रही बागेश्वरी चीनी मिल में अब कुछ दिनों में उत्पादन बंद होने जा रहा है। इस मिल में 3 मार्च तक 261440 मेट्रिक टन गन्ने की पेराई हुई है जबकि चीनी का उत्पादन 295175 क्विंटल हुआ है। मिल के बंद होने से तालुका के लोगों में काफी निराशा है। इस मिल के अधिकारियों ने तालुका के गन्ना किसानों को गन्ने की व्यस्थित खेती के लिए अनेक प्रशिक्षण दिये थे और किसानों की आय बढ़ाने में मदद की थी। चीनी मिल के प्रोत्साहन के कारण परतूर तालुका में गन्ने की खेती में काफी तेजी आई थी। किसानों ने चीनी मिल की गारंटी के कारण गन्ने की खेती में बहुत कुछ किया। खेतों में पानी पहुंचाने के लिए पाइपलाइन तक लगवाया।

मिडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीनी मिल के परिसर में कुछ हजार टन ही गन्ना पेराई के लिए बचा है। जो 9 मार्च तक समाप्त हो जाएगा। ऐसी संभावना मिल प्रशासन ने व्यक्त की है। मिल में गन्ने के स्टाक के कम होने का कारण मिल प्रबंधक मान रहे हैं कि गन्ना किसानों ने अपने गन्ने बाहरी मिलों में भेज रहे हैं। मिल के प्रबंधकों के अनुसार गत साल भी यहीं हुआ था। गन्ना किसानों ने अपने गन्ने बाहर भेजे थे, फिर भी मिल ने उनके गन्ने को सहानुभूति के रुप में स्वीकारा था। लेकिन अब यहां परिदृश्य बदलने वाला है। जिन किसानों के गन्ने बाहर गये थे, उनकी जवाबदारी अब मिल अगले साल से नहीं लेगा। इसका कारण है कि परतूर तालुका में इस साल गन्ने की खेती अधिक होने की संभावना जताई जा रही है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here