कर्नाटक: क्रशिंग क्षमता में बढ़ोतरी के साथ चीनी मिल में पेराई शुरू

1148

मांड्या, कर्नाटक: पांच साल तक बंद रहने के बाद, पांडवापुरा चीनी मिल (PSSK) की आज (Sept.18) से पेराई शुरू होगी, जिससे क्षेत्र के हजारों किसानों को राहत मिलेगी। मिल कई साल पहले बढ़ते घाटे के कारण बंद की गई थी। राज्य सरकार ने मिल चलाने के लिए निविदाएं आमंत्रित की थीं। इसके बाद, बागलकोट स्थित निरानी शुगर्स ने 40 साल की लीज पर मिल चलाने के लिए टेंडर हासिल किया।

टेंडर हासिल करने के बाद, निरानी शुगर्स (एमआरएन समूह) ने मिल को पुनः आरंभ करने के लिए आवश्यक तैयारी की, जिसका औपचारिक रूप से उद्घाटन 11 अगस्त 2020 को किया गया था। भाजपा विधायक मुरुगेश निरानी ने मिल को लीज पर लेने के बाद, क्रशिंग क्षमता को मौजूदा 3,500 टन प्रति दिन से 5,000 टन तक बढ़ाने की योजना बनाई और इस संबंध में यांत्रिक कार्य तेज गति से किए गए। अब, सभी आवश्यक तैयारियों के साथ, दशकों पुरानी मिल आज से गन्ना पेराई शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है। इससे किसानों में भी खुशी है। मिल प्रबंधन ने यह वादा किया है कि, वह किसानों को गन्ना आपूर्ति के 15 दिनों के भीतर एफआरपी (उचित और पारिश्रमिक मूल्य) के अनुसार भुगतान करेगा और सभी कर्मचारियों को हर महीने के पहले सप्ताह में वेतन का भुगतान किया जाएगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here