क्यूबा का चीनी उद्योग संकट में…

189

हवाना : चीनी समूह अज़्कुबा ने घोषणा की कि, देश के इतिहास में इस सीजन में सबसे खराब फसल के चलते चीनी निर्यात के अपनी अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं को पूरा नहीं कर पाएगा। क्यूबा के इस स्थिती का मुख्य रूप से सबसे जादा असर चीन पर होगा। अज़्कुबा के संचार निदेशक डायोनिस पेरेज़ ने बताया कि,देश के घरेलू बाजार के लिए चीनी उत्पादन पर्याप्त है।

दिसंबर में नेशनल असेंबली के समक्ष प्रस्तुत योजना के अनुसार, पूर्वानुमान था कि, उत्पादन 911,000 टन तक पहुंच जाएगी। घरेलू खपत के लिए 500,000 टन आवंटित करने और शेष 411,000 टन निर्यात के लिए इस्तेमाल करने की योजना बनाई गई थी। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, चीन क्यूबा के चीनी के लिए मुख्य निर्यात बाजारों में से एक है,और चीन प्रति वर्ष 400,000 टन चीनी खरीदता है।

पेरेज़ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्वीकार किया कि, ईंधन और उर्वरकों की कमी, चीनी मिलों की खराब स्थिति के कारण गन्ना क्षेत्र संकट में है। 20 मई को समाप्त हुए सीजन में भाग लेने वाली 35 चीनी मिलों में से केवल तीन ने अपने उत्पादन लक्ष्य को पूरा किया है। क्यूबा का चीनी उद्योग कई वर्षों से संकट से गुजर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here