महाराष्ट्र में भारी बारिश के कारण गन्ना फसल प्रभावित

167

मुंबई: राज्य के कृषि विभाग के शुरुआती अनुमानों के अनुसार, पिछले कुछ दिनों में मूसलाधार बारिश के कारण आई बाढ़ ने पूरे महाराष्ट्र में लगभग 1.10 लाख हेक्टेयर फसल को नुकसान पहुंचाया है। गन्ना, धान, सोयाबीन, मक्का और कपास जैसी फसलों को सबसे अधिक नुकसान हुआ है।

इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबिक, कृषि विभाग ने राज्य के विभिन्न हिस्सों से रिपोर्ट आने के कारण प्रभावित क्षेत्रों की संख्या में और वृद्धि की आशंका जताई है। एक वरिष्ठ कृषि अधिकारी ने कहा, ‘राज्य के कई हिस्सों में दूर-दराज के इलाकों के मुख्य क्षेत्र से कट जाने के कारण कृषि अधिकारी खेतों में नहीं जा पा रहे हैं। इतना ही नहीं कोल्हापुर स्थित कृषि विभाग के कार्यालय में भी बारिश के कारण पानी भर गया। पिछले कुछ दिनों में, राज्य के कुछ हिस्सों में अत्यधिक भारी बारिश हुई है और पश्चिमी महाराष्ट्र के कोल्हापुर, सांगली और सतारा जिलों के कुछ हिस्सों में भारी तबाही हुई है। मराठावाड़ा के परभणी जिले के साथ कोंकण के लगभग सभी जिलों में भी भारी नुकसान की सूचना है। विदर्भ, अकोला, वाशिम और नागपुर जिलों में भारी नुकसान की सूचना है। राज्य में गुरुवार से विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन में कई लोगों की मौत हो चुकी है।

प्रारंभिक अनुमानों से पता चला है कि, कोल्हापुर में लगभग 35,000 हेक्टेयर फसल को नुकसान हुआ है, और जिसमे मुख्य रूप से गन्ना फसल काफी प्रभावित हुई है। इसी तरह, सांगली में 4,500 हेक्टेयर और पुणे में 5,000 हेक्टेयर में नुकसान हुआ है। कोंकण में चावल के खेतों में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है, जिसमें बारिश के कारण अधिकांश फसल पानी के नीचे है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here