उत्तर प्रदेश में चीनी उत्पादन को खतरा

1482

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

लखनऊ: युपी के कई जिलों में गन्ना फसल में मिली बग कीट का प्रकोप दिखाई दे रहा है, जिससे फसल काफी प्रभावित हुई है और इससे उत्पादन घटने के आसार भी नजर आ रहे है। शामली जिले के कैराना क्षेत्र में विशेष रूप से मिली बग कीट का प्रकोप बढ़ रहा है। इससे निपटने में किसानों के पसीने छुट रहे है, लेकिन कुछ असर होता दिखाई नही दे रहा है।

कृषि विज्ञान केंद्र के कृषि वैज्ञानिक डॉ. विकास मलिक ने चीनी मिल के अधिकारियों के साथ कैराना क्षेत्र के कई गावों का मुआइना करने के बाद अवगत कराया कि इन गांवों में सैकड़ों बीघा जमीन पर गन्ने की फसल में मिली बग कीट का प्रकोप देखा गया। मिली बग कीट के कारण पत्तियां पीली पड़ने लगती हैं। जिस कारण पौधे की बढ़वार रुक जाती है और उत्पादन को सीधे सीधे प्रभावित करता है। कृषि वैज्ञानिक इस समस्या से निपटने के लिए कुछ जरूरी कदम उठा रहे है, जिसमे किसानों का प्रशिक्षण भी शामिल है।

…. ऐसे कर सकते है बचाव : गन्ने के मिली बग कीट से बचाव के लिए रोपण के 5वें और 7वें महीने के बाद पत्तियां उतारनी चाहिए। इमीडा क्लोरोपिड कीटनाशक रसायन की 200 एम.एल. मात्रा को 400 लीटर पानी के साथ प्रति एकड़ की दर से स्प्रे करें। एवं पौधे की पुन: बढ़वार के लिए माइक्रो न्यूटिएनट का भी प्रयोग करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here