क्रशिंग लाइसेंस आवेदन के लिए समय सीमा बढाई गई…

196

पुणे : चीनी मंडी

राज्य में भारी बारिश और गंभीर सूखे के कारण गन्ने की फसल को बड़ा नुकसान हुआ है। बाढ़ से कोल्हापुर, सांगली और सातारा में हज़ारों हेक्टेयर गन्ना फसल बर्बाद हो चुकी है। इससे इस बात की प्रबल संभावना है कि, यह हालात चीनी मौसम को प्रभावित करेंगे। इसके कारण, राज्य में चीनी मिलों को इस मौसम के लिए क्रशिंग लाइसेंस आवेदन के लिए समय सीमा एक महीने तक बढाई है। अब राज्य की सभी मिलें 30 सितंबर तक क्रशिंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकती है।

राज्य के एक हिस्से में बाढ़ की स्थिति और दूसरे में सूखे की स्थिति है। इसलिए गन्ने की फसल खतरे में है। इन दोनों संकटों के कारण, मिलों का चीनी मौसम खतरें में है। सांगली और कोल्हापुर जिलों के साथ-साथ मराठवाड़ा में चीनी मिलों को क्रशिंग में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। चीनी आयुक्त कार्यालय द्वारा इस सीजन के लिए आवेदन भरने की अंतिम तिथि 30 अगस्त तक घोषित की गई थी। हालांकि, राज्य के बाढ़ और सूखे से मिलों को लाइसेंस प्राप्त करने का समय नहीं मिला। सूखे के कारण, मराठवाड़ा में कई मिलों द्वारा पूरी क्षमता से क्रशिंग सीजन पूरा होने की संभावना नहीं है। इससे मराठवाड़ा मिलों के चीनी उत्पादन पर असर पड़ेगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here