संजीवनी चीनी मिल के भविष्य को लेकर 25 सितंबर तक जवाब देने का अनुरोध गन्ना किसानों ने किया

268

पोंडा: संजीवनी चीनी मिल के भविष्य पर राज्य सरकार के निष्क्रिय रुख से गोवा के गन्ना किसान काफी नाराज है। संजीवनी मिल पर निर्भर सुंगेम तालुका के किसानों ने कहा है की, अगर सरकार मिल को पूरी तरह से बंद करने का फैसला लेती है, तो किसानों को अगले दस वर्षों का मुआवजा देना होगा। सभी गन्ना किसानों द्वारा हस्ताक्षरित एक ज्ञापन में मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को संबोधित करते हुए, किसानों ने उनसे 25 सितंबर तक जवाब देने का अनुरोध किया है। यह ज्ञापन उप मुख्यमंत्री कृषि मंत्री चंद्रकांत कावलेकर को सौंपा गया था।

वेड-सुंगेम के एक प्रमुख किसान फ्रांसिस मैस्केरनस ने कहा, चूंकि राज्य सरकार की ओर से कोई अनुकूल प्रतिक्रिया नहीं आई है। गोवा के किसानों ने कुल 2,000 एकड़ क्षेत्र में गन्ने की खेती की है, जिसमें सुंगम तालुका चीनी मिल में गन्ने का सबसे बड़ा योगदानकर्ता है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here