नजीबाबाद चीनी मिल के विस्तारीकरण की मांग

72

बिजनौर, उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश में 119 चीनी मिलों का मौजूदा पेराई सत्र लगभग खत्म हुआ है। पेराई सीजन खत्म होने के बावजूद किसानों बकाया भुगतान अभी तक शत प्रतिशत नही हुआ है।

मीडिया रिपोर्ट की माने तो, प्रदेश के गन्ना किसानों का 10 हजार करोड़ रुपये के आस पास बकाया अब भी लंबित है। लंबित बकाये के चलते किसान गन्ने की फसल के बाद बोई गई अन्य फसलों की देखभाल करने में असमर्थ हैं। पेराई में हो रही देरी से छुटकारा पाने के लिए किसानों द्वारा मिलों के पेराई क्षमता में विस्तारीकरण की मांग उठाई जा रही है, और प्रदेश की कई सारी मिलें अपनी क्षमता बढ़ने की कोशिशों में जुटी है।

हाल ही में भारतीय किसान श्रमिक जनशक्ति यूनियन के पदाधिकारियों ने डीएम को ज्ञापन दिया, इसमें गन्ने का भुगतान शीघ्र कराने के साथ साथ नजीबाबाद चीनी मिल का विस्तारीकरण करने की मांग उठाई गई है। ज्ञापन में किसान मजदूरों का शोषण बंद करने के साथ साथ 9 मांगे पूरी करने की मांग की। इस अवसर पर दिनेश कुमार, राजकुमार, सरदार हैप्पी सिंह, रणधावा सिंह आदि किसान मौजूद थे।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here