चीनी मिल की पेराई क्षमता बढ़ाने की मांग…

2092

नजीबाबाद: किसान सहकारी चीनी मिल क्षेत्र में गन्ने का रकबा सालोंसाल बढ़ रहा है, लेकिन मिल की क्षमता कम होने के कारण समय पर पेराई नहीं हो पाती है , जिसका खामियाजा गन्ना किसानों को भुगतना पड़ता है। भाकियू ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की घोषण के बावजूद मिल की पेराई क्षमता वृद्धि न होने पर किसानों को गुस्सा फूटा। दूसरी ओर मिल द्वारा गन्ने का भुगतान भी नही हो पाया है, जिसके चलते किसानों ने प्रधान प्रबंधक को ज्ञापन सौंपकर गन्ना भुगतान कराने की मांग की।

भाकियू यूनियन के प्रांतीय उपाध्यक्ष चौ. बलराम सिंह, तहसील अध्यक्ष सरदार इकबाल सिंह, ब्लॉक अध्यक्ष मदन चौहान के नेतृत्व में किसानों का प्रतिनिधिमंडल किसान सहकारी चीनी मिल पहुंचा और मिल की क्षमता न बढ़ाने पर नाराजगी व्यक्त की। किसानों ने मुख्यमंत्री को घोषणा के अनुसार मिल की पेराई क्षमता तीन हजार टीसीडी से बढ़ाकर पांच हजार टीसीडी कराने की मांग की। प्रतिनिधि मंडल में विपिन राज, योगेंद्र सिंह, नवीन राजपूत, बाबूराम, ओमप्रकाश सहित अनेक किसान शामिल रहे।चीनी मिल के प्रधान प्रबंधक दानवीर सिंह ने बताया कि नजीबाबाद चीनी मिल ने किसानों का लगभग 83 प्रतिशत गन्ना मूल्य भुगतान कर दिया है। शेष भुगतान भी जल्द कराने के प्रयास जारी हैं। उन्होंने क्षमता वृद्धि शासन स्तर का होने की जानकारी दी।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here