चीनी मूल्य में ग्रेड अनुसार बदलाव करने की मांग

414

अहमदनगर : चीनी मंडी

कोपरगांव के शंकरराव काले सहकारी चीनी मिल के अध्यक्ष विधायक आशुतोष काले ने कहा कि, केंद्र सरकार ने चीनी के सभी ग्रेड के लिए 31 रुपये प्रति किलोग्राम की एक ही दर तय की है, यह अनुचित है और ग्रेड के अनुसार चीनी दर में बदलाव करना चाहिए। उन्होंने कहा की, चीनी मिलों को प्रति टन 400 – 500 रूपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है। चीनी उद्योग आर्थिक संकट से गुजर रहा है, और इसे संकट से बाहर निकालने के लिए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा मदद करनी होगी। कर्मवीर शंकरराव काले, सहकारी चीनी मिल के पेराई मौसम के अंतिम चरण समारोह शनिवार (7 मार्च) को संपन्न हुआ। पूर्व विधायक अशोकराव काले की अध्यक्षता में यह समारोह हुआ।

चीनी मिल के संकट के बारे में बात करते हुए, विधायक काले ने कहा, पिछले साल गर्मी के मौसम में भयंकर सूखा पड़ा था। मिल के क्षेत्र में गन्ने की खेती कम हो गई थी। कार्यक्षेत्र से उपलब्ध दो लाख टन गन्ना और बाहरी क्षेत्र का 1.5 लाख टन गन्ने के साथ 3.5 लाख टन गन्ना बुवाई का लक्ष्य रखा गया था। लेकिन अच्छी योजना के कारण 3 लाख 65 हज़ार मीट्रिक टन गन्ने का क्रशिंग किया गया। इसमें से 3 लाख 94 हजार क्विंटल चीनी का उत्पादन किया गया। विधायक काले ने मांग की कि, मिलों की वित्तीय स्थिति बिगड़ने के कारण चीनी का ‘एमएसपी’ में भी बदलाव जरूरी बन गया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here