गन्ना मूल्य प्रति क्विंटल 600 रुपये करने की मांग…

15854

देवबंद, उत्तर प्रदेश: पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने योगी सरकार से गन्ने का लाभकारी मूल्य प्रति क्विंटल 600 रुपये और बकाया गन्ना मूल्य का भुगतान शीघ्र कराने की मांग की। उन्होंने कहा की, महंगाई काफी बढ़ गई है।

उर्वरकों, बिजली आदि के साथ गन्ना फसल की लागत बढ़ गई है। ऐसे हालात में गन्ने के लाभकारी मूल्य में बढ़ोतरी एकमात्र विकल्प बचता है। नूना बड़ी गांव में बैठक में भगत सिंह वर्मा ने किसानों को कर्जमाफी करने की मांग की ।उन्होनें चेतावनी दी है की, यदि सरकार ने गन्ना मूल्य 600 रुपये क्विंटल और बकाया भुगतान शीघ्र नहीं कराया तो किसान सड़कों पर आकर आंदोलन करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

उत्तर प्रदेश में गन्ना पेराई का आगमन जल्द होने वाला और इस सीजन अच्छा गन्ना उत्पादन होने की उम्मीद है। लेकिन अब तक चीनी मिलों द्वारा पूरा गन्ना भुगतान नहीं किया गया है, जिसके चलते किसानों का कहना है की वे’आर्थिक तंगी से जूझ रहे है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

11 COMMENTS

  1. अगर सरकार गन्ना मूल्य बड़ाए तो हम इसका समर्थन किया है हम अपने देश के लिए अच्छी गुणवत्ता वाली फसल उगाई जा रही है

  2. Kishan agar ek ho jaaye to Sab Kuch ho Sakta hai sabse badi takqt जब डॉक्टर आंदोलन कर सकता है तो किसान क्यों नहीं जब बिजली कर्मचारी हड़ताल कर सकता है तो किसान क्यों नहीं आखिर अन्नदाता है थाली में रोटी आती है किसकी वजह से किसान की वजह से

  3. गन्ने का मूल्य लागत के अनुसार तय किया गया तो 600 रुपए प्रति कुन्तल भी कम रहेगा

  4. जी किसान भाइयों गन्ना का मूल्य 600 रु होना ही चाहिए क्योंकि डीज़ल और बिजली खाद और कृषि यंत्र भी महंगे हो गए है तो गन्ना का मूल्य 600रु क्यो नही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here