गन्ना बकाया को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन

261

शामली: गन्ना किसानों के बकाये को पूरा करने और गन्ने के मूल्य बढ़ाने का राजनीतिकरण शुरु है। उप्र के मुख्यमंत्री योगी के चुनावी घोषणाओं को पूरा न करने और बिजली की बढ़ी दरों को वापस लेने की मांग को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) के कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट ऑफिस के सामने धरना प्रदर्शन किया। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आह्वान पर शामली जिले के ऊन, कैराना व शामली तहसील में सपा के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने धरना-प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों सपा कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष अशोक चौधरी के नेतृत्व में कलक्ट्रेट कार्यालय की ओर कूच किया। कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

कलेक्टर मुख्यालय में प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को राज्य योजना आयोग के पूर्व सदस्य प्रोफेसर सुधीर पंवार ने संबोधित किया। उन्होंने योगी सरकार को आड़े हाथों लिया। पंवार ने कहा कि योगी सरकार का आधा कार्यकाल पूरा हो चुका है, अभी तक उनकी सरकार चुनावी घोषणाओं को पूरा करने में विफल रही है। विकास के कार्य भी नहीं रहे। ये सिर्फ चुनाव जीतने के लिए हिदू-मुस्लिमों मे वैमनस्य फैलाने की राजनीति करते हैं। पूर्व विधायक किरणपाल कश्यप ने भी योगी सरकार को पिछड़ा वर्ग विरोधी बताया। सपा जिलाध्यक्ष अशोक चौधरी ने गन्ना बकाया भुगतान, गन्ना मूल्य बढ़ाने एवं बिजली के बढ़े दामों को वापिस करने की मांग उठाई। कार्यकताओं ने राज्यपाल को सम्बोधित 11 सूत्रीय ज्ञापन उप जिलाधिकारी शामली को दिया। इस प्रदर्शन में डायरेक्टर ओम सिंह नाला, उदयवीर सिंह पूर्व चैयरमेन एलम, विजय कौशिक, प्रदीप चौधरी, सिभालका, रवि बालियान, डा. अहसान, जावेद जंग, अनुज जावला, मांगेराम मलिक, सत्यपाल कश्यप, कैराना, राव तफर्रूज, मौ. माजिद मलिक, मकबूल मलिक, राहुल शर्मा, राहुल राणा, संजय उपाध्याय और रविद्र जोगी के साथ अनेकों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here