लॉकडाउन के बावजूद उत्तर प्रदेश की चीनी मिलों द्वारा रिकॉर्ड गन्ना पेराई

2241

पीलीभीत: उत्तर प्रदेश सरकार के गन्ना और चीनी उद्योग के प्रमुख सचिव संजय आर भूसरेड्डी ने कहा की, लॉकडाउन के बावजूद यूपी की चीनी मिलों ने इस सीजन पिछले साल की इसी अवधि में इस वर्ष ज्यादा गन्ने की पेराई की है। इस सीजन 771.83 लाख क्विंटल ज्यादा गन्ना पेराई की गई है।

पिछले साल की समान अवधि की तुलना में मिलों ने अब तक 11,015.07 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई की है, जबकि पिछले सीजल में 10,243.243 लाख क्विंटल पेराई की गयी थी।

लॉकडाउन के दौरान मिलों ने किसानों को 5,543.07 करोड़ रुपये का भुगतान किया। इसका उद्देश्य किसानों की आर्थिक और सामाजिक हितों की सुरक्षा करना था। इसके साथ-साथ, मिल मालिक के सहयोग से, गन्ना विभाग ने कोरोना वायरस महामारी प्रकोप का सामना करने के प्रति सामाजिक जिम्मेदारी के रूप में, अब तक 5,398 स्थानों को स्वच्छ कर दिया गया है, जिसमें 3,054 ग्रामीण, 180 शहरी इलाकें और 2,152 सार्वजनिक कार्यालय शामिल हैं। कोरोना प्रकोप के चलते पहली बार, गन्ना विभाग ने चीनी मिलों को सैनीटाईजर उत्पादन शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किया। परिणामस्वरूप, 27 उत्तर प्रदेश की मिलें प्रतिदिन दो लाख लीटर से अधिक का उत्पादन कर रही हैं, राज्य की अपनी आवश्यकता को पूरा करने के बाद, देश के लगभग हर राज्य में आपूर्ति की जा रही है।

उत्तर प्रदेश की चीनी मिलों द्वारा रिकॉर्ड गन्ना पेराई यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

1 COMMENT

  1. गन्ने का भुगतान नहीं हो रहा है जिससे कर्ज के बोझ तले दबता जा रहा है किसान लोग डाउन के कारण जो भी नहीं लिख पा रही है गन्ने का भुगतान कराएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here