टिड्डियों के हमले से बचने के लिए किया जा रहा है ड्रोन का इस्तेमाल

281

आगरा : कृषि विभाग के सहायक निदेशक एसएन सिंह ने कहा की, उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में टिड्डियों के हमले से बचने के लिए कीटनाशकों का छिड़काव करने के लिए ड्रोन का उपयोग किया जा रहा है, जिसके बाद 60 प्रतिशत टिड्डियों की मौत हो गई है। सिंह ने एएनआई से बात करते हुए कहा की, ड्रोन के जरिये कीटनाशक के छिड़काव से लगभग 60 प्रतिशत टिड्डियां मारी गई हैं। केंद्र सरकार द्वारा दिए गए चार ड्रोन कीटनाशकों का छिड़काव करने के लिए उपयोग किए जा रहे हैं।

जिला कृषि रक्षा अधिकारी रामपर्वत कुमार ने कहा, टिड्डियों का झुंड सोमवार शाम करीब 8 बजे से 9 बजे के बीच यहां पहुंचा। हमने यहां छिड़काव के लिए ट्रैक्टर और फायर ब्रिगेड का इस्तेमाल किया। अब केंद्र सरकार द्वारा सौंपी गई एक टीम भी टिड्डियों को मारने के लिए चार ड्रोन के साथ यहां पहुंची है। एक निवासी, निहाल सिंह, जो टहलने के लिए निकले थे,उन्हों ने एएनआई को बताया कि, बड़ी संख्या में टिड्डियां आज सुबह-सुबह सामने आईं और स्थानीय लोगों के लिए चलना भी मुश्किल हो गया। कृषि मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, टिड्डियों के झुंडों के सभी समूहों को राजस्थान, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के राज्य कृषि विभागों, स्थानीय प्रशासन और केंद्रीय टिड्डी चेतावनी संगठन के अधिकारियों की टीमों द्वारा ट्रैक किया जा रहा है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here