अब किसान घर बैठे जान सकेंगे गन्ना सर्वे, सट्टा और पर्चियों का हाल

बरेली: अब किसानों को गन्ने के विषय में जानकारी के लिए दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। उत्तर प्रदेश सरकार के गन्ना विभाग ने इस साल के नए पेराई सत्र में गन्ना किसानों को अत्यधिक सुविधा प्रदान करने के लिए ई-गन्ना एप का शुभारंभ किया है। किसान अब अपने मोबाइल पर सर्वे, सट्टा और पर्चियों के बारे में आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। राज्य के गन्ना विभाग की वेबसाइट और प्ले स्टोर पर इस एप का लिंक मौजूद है। इसमें राज्य के सभी किसानों के बारे में जानकारी दी गई है। साथ ही इसमें टोल फ्री नंबर भी है जिसपर किसान अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

बरेली जिला के गन्ना अधिकारी जितेंद्र मिश्रा के मुताबिक ई-गन्ना एप को किसान अपने मोबाइल पर डाउनलोड कर सकते हैं। उन्हें इसमें पंजीकृत मोबाइल नंबर या बैंक एकाउंट नंबर डालना होगा। इस एप के माध्यम से किसान प्राइमरी कलेंडर, फाइनल कलेंडर, पर्चियों की स्थिति, सट्टा, मिल में गन्ने के वजन के बाद मिलने वाली पर्ची आदि का पूरा ब्यौरा जान सकेंगे।

श्री मिश्रा के मुताबिक गन्ना किसानों को अधिक सुविधा देने के लिए ई-गन्ना नाम का यह एप तैयार किया गया है। एप की खूबियां बहुत हैं। किसान एसएमएस के जरिए गन्ने का वजन कराना और पर्ची जारी होने पर संदेश प्राप्त कर सकते हैं। किसी भी शिकायतों के लिए विभाग ने टोल फ्री नंबर की भी सुविधा उपलब्ध कराई है। एक बात यहां किसानों को ध्यान रखना चाहिए कि इस एप में भुगतान के बारे में जानने की सुविधा नहीं दी गई है क्योंकि एप सभी चीनी मिलों से जुड़ा नहीं है। इस एप को प्ले स्टोर से किसान अपने मोबाइल पर डाउनलोड कर सकते हैं। पहले उन्हें राज्य के गन्ना विभाग की वेबसाइट से डाउनलोड करना होता था।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here